Gwalior PM Awas Yojana: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवासहीन शहरवासियों को स्वयं के आवास देने के लिए महलगांव पहाड़ी, सागरताल क्षेत्र में फ्लैटों का निर्माण किया गया है। इनमें से 70 प्रतिशत से अधिक की बुकिंग हो चुकी है। शहरवासियों ने इन फ्लैट को बैंकों से फायनेंस भी करा लिया है। उनकी ईएमआइ कटना शुरू हो चुकी है। रेरा में किए गए उल्लेख के अनुसार 31 जुलाई को ये फ्लैट आवेदकों को मिलने थे, जबकि कोरोना के कारण निर्माण कार्य प्रभावित होने से ये फ्लैट दिसंबर तक पैसा जमा करने वालों को मिल पाएंगे। यह स्थिति उन्हें भारी पड़ रही है, जिनके खुद के घर नहीं थे और किराए से रह रहे हैं। उन्हें ईएमआइ देने के साथ-साथ किराया भी चुकाना पड़ रहा है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3960 ईडब्ल्यूएस, एलआइजी व एमआइजी तैयार किए गए। कोरोना के कारण एक साल तक काम प्रभावित रहा। अधिकांश मजदूर अपने घरों को जा चुके हैं। मजदूरों की संख्या कम होने से काम ठीक से नहीं हो पा रहा है।

यह है अभी आवासों की स्थितिः

स्थान ईडब्ल्यूएस एलआइजी एमआइजी

मानपुर-1 912 320 84

मानपुर-2 1200 00 00

महलगांव 128 640 00

मेहरा 384 312 00

15 से 20 हजार रुपये तक की आ रही है किस्तः प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लोगों ने एक साल पहले फ्लैट बुक करा लिए थे। बैंकों ने भी तत्काल फायनेंस कर दिया था। बैंकों द्वारा किए गए फायनेंस का पैसा नगर निगम के पास आया तब पीएम आवास के निर्माण की स्पीड़ बढ़ी थी। जिन्होंने फ्लैट बुक कराए थे उनकी 15000 से लेकर 20000 रुपये तक की ईएमआइ आ रही है। वहीं मकान का किराया भी चार से पांच हजार रुपये प्रतिमाह देना पड़ रहा है।

वर्जन-

प्रधानमंत्री आवास योजना में मैंने महलगांव में फ्लैट बुक किया है। इसकी हर माह 15000 रुपये किस्त जा रही है, साथ ही अभी शासकीय क्वार्टर में रहता हूं उसका भी किराया जा रहा है।

कृष्णकांत दुबे, स्पेशल ब्रांच ग्वालियर

वर्जन-

मैने प्रधानमंत्री आवास योजना में फ्लैट बुक किया है। मैं प्राइवेट जाब करता हूं, मेरी किस्त चालू हो चुकी है। हर माह भरनी पड़ रही है, लेकिन अभी तक फ्लैट नहीं मिला है। साथ ही किराए के मकान का किराया भी देना पड़ रहा है।

नवीन, प्राइवेट कर्मचारी

वर्जन-

कोरोना का प्रोजेक्ट पर असर एक साल तक रहा है। अभी भी काम पूरी तरह से पटरी पर नहीं आया है। प्रोजेक्ट को खत्म करने की तिथि 31 जुलाई है। यह दिसंबर तक खत्म होगा।

पवन सिंघल, नोडल अधिकारी प्रधानमंत्री आवास योजना

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local