बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी मानसी बालूजा ने आरोपित हिमांशु जैन को धारा 34(1)(क) आबकारी अधिनियम का दोषी पाते हुए न्यायालय उठने तक की सजा सुनाई। साथ ही आराेपित पर 800 रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है।

अभियोजन की ओर से पैरवी करने वाली सहायक जिला लोक अभियेाजन अधिकारी कल्पना यादव ने घटना के बारे में बताया कि 2 जनवरी 2017 थाना जनकगंज को मुखबिर से सूचना मिली कि साहिबा की बगिया के सामने एबी रोड गोल पहाड़िया पर एक व्यक्ति एक प्लास्टिक के थैले में शराब के क्वाटर रखकर बेच रहा है। सूचना की तस्दीक के लिए मुखबिर के बताए हुए स्थान पर पुलिस पहुंची तो एक व्यक्ति जो हाथ में थैला लिए था, पुलिस को देखकर भागने लगा। जिसे हमराही फोर्स व राहगीर सुरेश बाथम की मदद से घेरकर पकडा व उसके प्लास्टिक के थैले को चैक किया। थैले में 40 क्वाटर देशी शराब प्लेन के मिले। आरोपित से शराब रखने व बेचने का वैद्य लाइसेंस चाहा गया तो न होना बताया गया। आरोपित पर धारा 34 आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया। आरोपित की ओर से बचाव में तर्क दिया कि उसे पुलिस ने झूठा फंसाया है। उसने कोई अपराध नहीं किया है। सजा देने में नरमी बरती जाए। अभियोजन ने कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आरोपित हिमांशु जैन को धारा 34(1)(क) आबकारी अधिनियम का दोषी पाते हुए न्यायालय उठने तक की सजा एवं 800 रूपये के जुर्माने की सजा सुनाई।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local