Gwalior Political News: जाेगेंद्र सेन, ग्वालियर नईदुनिया। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सोमवार को मीडिया से चर्चा करते हुए स्वीकार किया कि सरसों के तेल के दाम बढ़े हैं। क्योंकि सरकार ने सरसों के तेल में जो थोड़ी मात्रा में ब्लेंडिग की छूट दी थी, उस पर अंकुश लगा दिया है। खाद्य तेलों के दामों पर सरकार की पूरी नजर है। इससे पहले दलहनों के दामों में तेजी आई थी। सरकार ने स्टाक ओपन कर दामों को कंट्रोल किया है। उन्होंने कहा कि मिलावट पर अंकुश लगाने के केंद्र सरकार के फैसले से तिलहन का काम करने वाले किसानों को फायदा होगा और लोगों को 100 फीसद शुद्ध सरसों का तेल मिल सकेगा। प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की मांग काे नरेंद्र सिंह तोमर ने तथ्यहीन बताते हुए खारिज कर दिया। उन्हाेंने कहा कि शिवराज सिंह चाैहान ही प्रदेश के मुख्यमंत्री रहेंगें।

कांग्रेस तय नहीं करेगी, कौन होगा प्रदेश का मुख्यमंत्रीः केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने प्रदेश में मुख्यमंत्री बदले जाने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस तय नहीं करेगी कि कौन प्रदेश का मुख्यमंत्री होगा। क्योंकि यहां भाजपा की सरकार है। भाजपा संगठन ने पहले ही तय कर दिया है कि शिवराज सिंह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहेंगें। यह सारी अटकलें इंटरनेट मीड़िया के दिमाग की उपज है। इन अटकलों में कोई दम नहीं हैं। कोरोना संक्रमण में अंकुश लगाने में सरकार ने सही दिशा में काम किया है। इसी का नतीजा है कि संक्रमण धीरे-धीरे कंट्रोल में आ रहा है।

प्रधानमंत्री तय करेंगें,कब विस्तार होना हैंः केंद्रीय मंत्री मंडल के विस्तार को लेकर चर्चाओं के संबंध मेें नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि केंद्र में प्रधानमंत्री व राज्य में मंत्री मंडल का विस्तार करना मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार होता है। इसलिए प्रधानमंत्री को तय करना हैं कि मंत्री मंडल का विस्तार कब करना हैं। मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं हैं।

बिल को वापस लेने को छोड़कर किसानों से बातचीत को तैयारः केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नया कानून किसानों के हित में हैं। इसलिए इस कानून को वापस लेने के मुद्दे को छोड़कर किसानों से बातचीत करने को आज भी तैयार हैं और उनकी हर समस्या और गलतफहमी को दूर किया जाएगा। किसानों को बातचीत के लिए आगे आना चाहिए।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local