Gwalior Political News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा भले अभी तक नहीं हुई हो, मगर ग्वालियर के निकाय चुनाव को लेकर सियासी पारा जोर पकड़ रहा है। हिंदू महासभा से पार्षद रहे बाबूलाल चौरसिया की कांग्रेस में वापसी होने को लेकर राजनीति तेज हो गई है। इस संबंध में हिंदू महासभा (हिमस) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा.जयवीर भारद्वाज एवं जिला अध्यक्ष हरिदास अग्रवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमल नाथ को पत्र लिखा है। भेजे गए पत्र में लिखा है कि हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया को कांग्रेस में शामिल करके, कांग्रेस ने नाथूराम गोडसे की विचारधारा स्वीकार कर ली है, यह हिंदू महासभा की जीत है। हिमस पदाधिकारियों का कहना है कि 2014 से हिंदू महासभा के पार्षद बाबूलाल चौरसिया घर-घर जाकर नाथूराम गोडसे की विचारधारा का प्रचार कर रहे हैं। इन्हें कांग्रेस में शामिल करके मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी ने गोडसे के प्रति आस्था व्यक्त की है। इससे यह प्रमाणित होता है कि गोडसे की विचारधारा से कांग्रेसी भी प्रभावित हैं।

गौरतलब है कि बाबूलाल चौरसिया ग्वालियर में हिमस के इकलौते पार्षद रहे हैं। इससे पहले वे कांग्रेस में थे। मगर टिकट न मिलने के कारण उन्होंने हिंदू महासभा के सहयोग से निर्दलीय चुनाव लड़ा और कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष रहे शम्मी शर्मा को हराया। वहीं अब चौरसिया का कहना है कि उन्हें नहीं पता था कि जिस मूर्ति को उन्होंने पूजा, वह महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की थी। उधर बाबूलाल चाैरसिया के कांग्रेस ज्वाइन करने के बाद से कई नेता खासे नाराज हैं आैर इंटरनेट मीडिया पर पाेस्ट करके उन्हाेंने अपनी भड़ास भी निकाली है। जिससे पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags