Gwalior Political News: जाेगेंद्र सेन, ग्वालियर नईदुनिया। राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया व सांसद विवेक नारायण शेजवलकर के बीच पिछले तीन माह से सियासी शीत युद्ध छिड़ा हुआ है। दोनों के बीच चिट्ठी वार से संगठन में हलचल मची हुई है। सांसद पिछले दो माह से सिंधिया के साथ कोई मंच साझा नहीं कर रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया 27 फरवरी को नगर प्रवास के दौरान सांसद निवास पर मिलने के लिए जाएंगें और चर्चा कर गिले-शिकवे दूर करने का प्रयास करेंगे।

अलग-अलग दलों में होने के बाद भी ज्योतिरादित्य सिंधिया व विवेक नारायण शेजवलकर के बीच मधुर संबंध थे। विचारधार अलग होने के बाद भी दोनों एक दूसरे के सम्मान का पूरा ध्यान रखते थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने के बाद सिंधिया व शेजलकर के बीच नई राजनीतिक कैमिस्ट्री बनने के कयास लगाए जा रहे थे। स्थानीय क्षत्रप भी सिंधिया व विवेक की नई जोड़ी बनने की संभावनाओं से बैचनी महसूस कर रहे थे। क्योंकि विवेक नारायण शेजवलकर संघ की पृष्ठभूमि से जुड़े हैं और उनकी आरएसएस में मजूबत पकड़ भी है। दूसरी तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया को राजमाता विजयाराजे सिंधिया के राजनीति विरासत का वारिस माने जाने के कारण उन्हें भी कम नहीं आंका जा रहा था।

एयरपोर्ट के विकास को लेकर हुई चिट्ठीबाजी से शुरू हुई जंगःज्योतिरादित्य सिंधिया के विमानतल के विकास को लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह को चिट्ठी लिखी थी। इस पत्र के वायरल होने पर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर समर्थकों ने एक चिट्ठी इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दावा किया कि सिंधिया से पहले सांसद ने नागरिक उड्डयन मंत्री को विमानतल के विकास के लिए चिट्ठी लिखी थी। इसी चिट्ठी से अंदरूनी मतभेद सतह पर आ गए। हालांकि सिंधिया व सांसद दोनों ही विकास के श्रेय को लेकर किसी प्रकार का मनमुटाव होने की बात को नकार रहे हैं। पहली बार अंचल में विवेक नारायण शेजवलकर को आक्रमक राजनीति करते हुए देखा गया है। इससे पहले वह खामाेशी से अपना काम करने में विश्वास रखते थे।

गिले-शिकवे दूर करेंगेः 27 फरवरी को ज्योतिरादित्य सिंधिया शाम पांच बजे विवेक नारायण शेजवलकर के निवास पर उनसे मुलाकात करने के लिए जाएंगें। कयास लगाया जा रहा है कि मीडिया में दोनों के बीच चल रहे मतभेदों की चर्चाओं पर पूर्ण विराम लगाने के लिए सिंधिया सांसद निवास जा रहे हैं। राजनीतिक हल्कों में चर्चा है कि सिंधिया व विवेक नारायण शेजवलकर सीधे बातचीत कर गिले-शिकवे दूर करने का प्रयास करेंगे।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags