Gwalior Railway News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कड़ाके की सर्दी आैर काेहरे की शुरूआत के साथ ही रेल यातायात गड़बड़़ाने लगा है। काेहरे के कारण हवाई एवं रेल सेवा दाेनाें ही प्रभावित हाेते हैं। बुधवार काे भी हैदराबाद से ग्वालियर आने वाली फ्लाइट 1.20 घंटे देरी से ग्वालियर पहुंची है। वहीं शताब्दी एक्सप्रेस सहित करीब आधा दर्जन से अधिक ट्रेनें घंटाे देरी से पहुंची है।

दिल्ली-झांसी के बीच सर्दियाें में घना काेहरा रहता है। इससे दिल्ली-झांसी के बीच ट्रेनाें की रफ्तार काफी धीमी हाे जाती है। इसी वजह से ट्रेनाें की लेटलतीफी काफी बढ़ जाती है। फाेग सेफ्टी डिवाइस के कारण रेल हादसाें में ताे कमी आई है, लेकिन ट्रेनाें की लेटलतीफी अब भी कम नहीं हाे सकी है। बुधवार काे हैदराबाद से आने वाली स्पाइस जेट की फ्लाइट अपने निर्धारित समय सुबह 9.30 बजे की जगह सुबह10.50 बजे ग्वालियर पहुंची है। वहीं नई दिल्ली से आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस करीब एक घंटा, पंजाब मेल 2.39 घंटे, बैंगलुरू निजामुद्दीन राजधानी एक्सप्रेस 37 मिनट आैर हबीबगंज से नई दिल्ली की तरफ जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस करीब 27 मिनट की देरी से ग्वालियर पहुंची है।

यात्री हुए परेशानः ट्रेन में यात्रा करने वाले लाेग निर्धारित समय पर रेलवे स्टेशन पहुंच गए, लेकिन पता चला कि ट्रेन लेट हैं। एेसे में ट्रेन के इंतजार में लाेगाें काे घंटाे प्लेटफार्म पर इंतजार करना पड़ा। वहीं वीआइपी ट्रेनाें के लेट हाेने के कारण वेटिंग रूम भी खचाखच भरे हुए थे। काेराेना काल में हुए लाकडाउन के कारण प्रभावित हुआ रेल यातायात अब धीरे-धीरे पटरी पर लाैटने लगा है। इससे यात्रियाें की संख्या में भी इजाफा हुआ है।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस