Gwalior Railway news: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। सिथोली रेलवे स्टेशन के डाउन ट्रेक पर मंगलवार सुबह रेल पटरी पर लगी फिश प्लेट के बोल्ट टूट गए। जिससे पटरी में दरार आ गई। पेट्रोलिंग कर्मियेां की सूझबूझ के चलते एक बड़ा हादसा टल गया। क्योंकि टूटे हुए रेल ट्रैक पर कुछ ही मिनट बाद झांसी आगरा पैंसेजर व बुंदेलखंड एक्सप्रेस को निकलना था। पटरी फ्रेक्चर की सूचना मिलते ही रेलवे का पीडब्ल्यूआइ अमला मौके पर पहुंचाया और 45 मिनट की मशक्कत के बाद टूटे फिश प्लेट नट बोल्टों केा कसने के साथ पटरी पर बैल्डिंग कर रेल यातायात बहाल किया।

जानकारीक े मुताबिक मंगलवार सुबह सिथोली रेलवे स्टेशन पर स्र्टीन के तहत रेल ट्रैक पर पेट्रोलिंग कर्मी महेन्द्र व संतोषककमुमार गश्त कर रहे थे। तभी दोनों की नजर डाउन ट्रेक पर लगी फिश प्लेट व नटबोल्ट पर पड़े। नट बोल्ट टूटे हुए थ्ो और पटरी फ्रेक्चर के चलते क्षतिग्रस्त हो गई। रेल पटरी टूटी देख देानो पेट्रालिंग कर्मियों ने मामले की जानकारी कंट्रोल व पीडब्ल्यूआइ रेल विभाग को दी।

दो ट्रेनों को निकलना था: यदि समय रहते क्षतिग्रस्त रेल पटरी पर दोनों पेट्रोलिंग कर्मियों की नजर नहीं पड़ती तो एक बड़ा रेल हादसा घटित हो सकता था क्योंकि इस डाउन रेल ट्रैक पर कुछ ही समय बाद वाराणसी से ग्वालियर पहुंचने वाली बुंदेलखंड एक्सप्रेस व झांसी आगरा पैसेंजर को निकलना था। लेकिन समय पर पटरी फ्रेक्चर का पता लगने पर हादसा टल गया।

अफसर पहुंचे मौके पर: ट्रेक फ्रेक्चर की सूचना मितले ही तत्काल रेलवे का पीडब्ल्यूआइ अमला मौके पर पहुंचा। जिसमें अफसर व कर्मचारी शामिल थे। अमले ने 45 मिनट की मशक्कत के बाद फिश प्लेट, नटबोल्ट बदलने के साथ साथ क्षतिग्रस्त ट्रेक के हिस्से को रिपेयर किया।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local