Gwalior Railway News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में फिलहाल कोरोना वायरस थमा हुआ है। फरवरी माह से कोरोना संक्रमित के मामले काफी कम हाे गए हैं, लेकिन महाराष्ट्र में कोविड की दूसरी लहर की शुरुआत हाे चुकी है। वहां कई शहरों में सरकार ने लाकडाउन कर दिया है। ऐसे में ट्रेन के जरिए महाराष्ट्र से ग्वालियर में भी कोरोना की दूसरी लहर आने का खतरा बढ़ गया है। इसकी वजह है ट्रेनों और रेलवे स्टेशनों पर कोविड नियमों का पालन न होना। नईदुनिया की टीम ने सोमवार को महाराष्ट्र के नांदेड से अमृतसर जाने वाली सचखंड एक्सप्रेस और पंजाब मेल में पड़ताल की तो नियमों का पूरी तरह उल्लंघन होता मिला। वहीं रेलवे का स्टाफ भी नियमों की अनदेखी करता नजर आया।

कोरोना से बचाव के लिए तीन मुख्य बातें हैं। इनमें शारीरिक दूरी, मॉस्क आैर सैनिटाइजेशन शामिल हैं। नईदुनिया टीम को संचखंड एक्सप्रेस और पंजाब मेल दोनों ही ट्रेनों के अंदर नियमों का पालन होते नहीं दिखा। गाड़ी में लोग एक-दूसरे से सटकर बैठे हैं। बिना मास्क लगाए यात्री एक-दूसरे से बातचीत कर रहे हैं। सैनिटाइजर का उपयोग भी नहीं किया जा रहा है। रेलवे स्टेशन पर लापरवाही की हद यह थी कि महाराष्ट्र से आने वाले यात्रियों को बिना जांच किए स्टेशन से बाहर जाने दिया जा रहा है। स्क्रीनिंग मशीन बंद पड़ी थी। इधर लोग बिना मास्क लगाए स्टेशन में प्रवेश कर रहे हैं। यह सब रेलवे स्टाफ के सामने हो रहा है।

शहरवासियों को रहना होगा सचेतः महाराष्ट्र में अब तक 21 लाख से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं, जबकि 51 हजार से अधिक लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। फरवरी माह से महाराष्ट्र में कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। वर्तमान में हर रोज एक हजार से अधिक मामले सामने आ रहे हैं। इधर ग्वालियर में कोरोना का ग्राफ लगातार कम हो रहा है। शहर में बाजार, पार्क, मॉल सभी कुछ खुले हुए हैं, लेकिन रेलवे कर्मचारियों की लापरवाही व अनदेखी शहरवासियों को मुश्किल में डाल सकती है। बेहतर होगा शहरवासी कोविड नियमों का सौ फीसद पालन करें।

नियमाें का उल्लंघन

- बिना मास्क प्रवेश नहीं दिया जाना था।

- सैनिटाइजर का लगातार इस्तेमाल।

- स्क्रीनिंग के बाद यात्री को प्रवेश और बाहर आने की इजाजत।

- रेलवे के निकास द्वारों पर स्टाफ की तैनाती।

- स्टेशन और रेल के अंदर यात्रियों के बीच दो गज की दूरी।

वर्जन-

रेलवे स्टेशनों पर कोविड को रोकने के लिए बनाए गए नियमों का सख्ती से पालन कराया जा रहा है। अगर कहीं चूक हो रही है तो सभी को निर्देशित किया जाएगा कि कर्मचारी सख्ती से नियमों का पालन करें।

मनोज सिंह, जनसंपर्क अधिकारी उत्तर मध्य रेलवे

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags