ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कड़ाके की सर्दी के दस्तक देते ही रेलवे काे ट्रेनाें के टाइम टेबल की चिंता सताने लगी है। क्याेंकि सर्दी में काेहरे का सबसे ज्यादा असर ट्रेनाें की रफ्तार पर पड़ता है। एेसे में ट्रेनाें की लेटलतीफी बढ़ जाती है। रेलवे काफी समय से फॉग सेफ्टी डिवाइस के माध्यम से काेहरे से निपटने के प्रयास में जुटा हुआ है। हालांकि सर्दी आते ही ट्रेनाें की लेटलतीफी की समस्या अब भी बरकरार है।

अब सर्दी के दस्तक देते ही झांसी मंडल ने फिर से फॉग सेफ्टी डिवाइज पायलट काे उपलब्ध कराने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके तहत उत्तर मध्य रेलवे मंडल से चलने वाली 452 मालगाड़ी, एक्सप्रेस व मेल के ड्राइवरों को कोहरे से बचने के लिए फॉग सेफ्टी डिवाइस उपलब्ध कराई जाएगी। इस डिवाइस से ड्राइवर को पता चल सकेगा कि आगे कौन सा सिग्नल आने वाला है। वहीं इस डिवाइस के हिसाब से नए सिग्नलों को भी अपडेट किया जा रहा है। जिससे फॉग सेफ्टी डिवाइस बेहतर तरीके से काम कर सके।

रेलवे स्टेशनाें पर लगेगा 100 फीट ऊंचा तिरंगाः झांसी रेल मंडल के अंतर्गत आने वाले दतिया, मुरैना, चित्रकूट, बांदा, छतरपुर, ललितपुर, मुरैना, भिंड, महोबा, श्योपुरकलां, टीकमगढ़, हरपालपुर तथा खजुराहो रेलवे स्टेशनों पर 100 फीट ऊंचा राष्ट्रीय ध्वज लगाया जाएगा। इसके आदेश इन स्टेशनों पर जारी किए जा चुके हैं।

बढ़ेगी ट्रेनाें की रफ्तारः डीआरएम संदीप माथुर ने आनलाइन वार्ता के दौरान पत्रकारों को बताया कि इन 12 स्टेशनों पर इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग का काम किया जा रहा है। यह कार्य पूरा होने के बाद इस रेल मार्ग पर ट्रेनें 100 की स्पीड से दौड़ सकेंगी। इस दौरान उन्होंने विवेकानंद नीडम आरओबी के प्रोजेक्ट में हो रही देरी के सवाल पर बताया कि इस मुद्दे पर उच्च स्तर पर चर्चा जारी है। संभवत: इसके टेंडर जारी कर दिए गए हैं।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस