Gwalior Raja Mahir Bhoj controversy: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। राजा महिर भोजन की प्रतिमा लगाने से शहर में शुरू हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। क्योंकि राजा मिहिर भोज को गुर्जर समुदाय अपना बता रहा है और क्षत्रिय लोग अपना बता रहे हैं। राजा मिहिर भोजन के आगे गुर्जर लगाने को लेकर क्षत्रिय महासभा ने मंगलवार को गोले का मंदिर चौराहे पर जाम कर दिया। जाम की सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। हालांकि काफी देर तक जाम रहा और प्रदर्शन चला। बाद में पुलिस व प्रशासन की समझाइश पर जाम खोल दिया गया।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों शहर में राजा मिहिर भोज की प्रतिमा स्थापित की गई थी। तब गुर्जर समुदाय के लोगों ने राजा मिहिर भोज को अपने समुदाय का बताया था। बाद में गुर्जर समुदाय के लोगाें ने प्रेसवार्ता कर इस संबंध में अपनी तरफ से साक्ष्य भी दिए। इसके बाद क्षत्रिय समाज भी सामने आ गया और उसने राजा मिहिर भोज को अपना बताया। साथ ही कहा कि यदि राजा मिहिर भोज क्षत्रीय है और गुर्जर इसे अपना मानते हैं तो आरक्षण छोड़ दें। इसके बाद में विवाद और गहरा गया। इसके बाद क्षत्रिय समाज के लोगों ने मंगलवार को गोले का मंदिर चौराहे पर जाम लगा दिया।

प्रशासन ने सोशल मीडिया पर पोस्ट की प्रतिबंधित

शहर के माहौल व दो समुदायों के बीच चल रहे तनाव को देखते हुए प्रशासन ने सोशल मीडिया पर राजा मिहिर भोज को लेकर की जाने वाली भड़काऊ पोस्टों पर प्रतिबंध लगा दिया। साथ ही चेतावनी दी कि किसी ने भी पोस्ट की तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

लोग हुए परेशान

गोले का मंदिर चौराहा शहर का प्रमुख चौराहा है। यहां पर भिण्ड व मुरैना से आने वाले लोग शहर में प्रवेश करते हैं। यहां जाम लगने से चौराहे पर ट्रैफिक ठप हो गया। लोगों को न केवल रास्ता बदलना पड़ा, जो लोग जाम के बीच में फंस गए उन्हें काफी देर तक फंसे रहना पड़ा।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local