Gwalior RTO News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। अब लर्निग लाइसेंस, नवीनीकरण, डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस के लिए अब क्षेत्रीय परिवहन (आरटीओ) जाने की जरूरत नहीं है। आनलाइन आवेदन कर घर बैठे लर्निंग लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं। परिवहन विभाग प्रदेश में आज से लर्निग लाइसेंस की सेवा को आनलाइन किया जा रहा है। लर्निंग लाइसेंस को आधार कार्ड से जोड़ दिया है। इस सेवा का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है। 1 सितंबर से डुप्लीकेट व लाइसेंस नवीनीकरण की सेवा शुरू होगी। प्रदेश में आठ लाख लोगों को आरटीओ में बाबुओं के चक्कर नहीं काटने होंगे। आनलाइन आवेदन कर इस सेवा का लाभ ले सकते हैं। दो अगस्त को दोपहर 3 बजे जीवाजी विश्वविद्यालय रोड स्थित आइआइटीटीएम में आन लाइन लर्निंग लाइसेंस सेवा शुभारंभ किया जाएगा।

वर्तमान में लर्निग लाइसेंस, लाइसेंस का नवीनीकरण, डुप्लीकेट क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय जाना पड़ता है। कार्यालय में फोटो की लाइन में घंटो लगना पड़ता है। बाबुओं के भी चक्कर काटने पड़ते हैं। प्रदेश में लोगों को इस परेशानी से बचाने के लिए परिवहन विभाग ने राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र ( एनआइसी) साफ्टवेयर लागू किया है। लाइसेंस की सेवा देने के लिए सारथी साफ्टवेयर तैयार किया है। सारथी साफ्टवेयर को आधार कार्ड से जोड़ दिया है। यह पूरी तरह से सुरक्षित है। आनलाइन प्रक्रिया पूरी करने के बाद ओटीपी के माध्यम से लर्निग लाइसेंस टेस्ट का पासवर्ड प्राप्त हो जाएगा। 60 फीसद सवालों के जवाब सही देने पर स्वत: लाइसेंस जनरेट हो जाएगा। ज्ञात हो कि प्रायोगिक तौर पर खरगोन व सतना में इस सेवा की शुरुवात की थी। प्रयोग सफल रहा है। इस सेवा को 1 अप्रैल से लागू किया जा रहा था, लेकिन कोविड-19 के चलते कार्यालय बंद हो गए। आनलाइन करने में तकनीकी दिक्कतें आ रही थीं। इन दिक्कतों को दूर किया गया। ट्रायल में कोई परेशानी नहीं आई। सभी बाधाएं खत्म कर इस सेवा को 2 अगस्त से पूरे प्रदेश में शुरू किया जा रहा है।

यह रहेगी लाइसेंस प्राप्त करने की प्रक्रिया

- आवेदक विभाग की वेबसाइट www.transport.mp.gov.inपर जाना होगा। आन लाइन सर्विस मेन्यू के अंतर्गत ड्राइविंग लाइसेंस सर्विस का चयन करना होगा। इसमें सारथी सर्विस पोर्टल के होम पेज पर जाना होगा। लर्निग लाइसेंस का चयन करना होगा।

-लर्निग लाइसेंस अप्लाई करने के लिए दो आप्शन आएंगे। एप्लीकेंट होल्ड आधार व एप्लीकेंट डज नोट होल्ड आधार। घर बैठे लाइसें प्राप्त करने के लिए एप्लीकेंट होल्ड आधार का चयन करना होगा।

- आधार नंबर दर्ज करने के बाद मोबाइल पर ओटीपी आएगा।

- ओटीपी दर्ज करने के बाद जानकारी भरना होगी।

- लर्निग लाइसेंस टेस्ट के लिए एसएमएस के माध्यम से पासवर्ड प्राप्त होगा। 60 फीसद प्रश्नों के उत्तर देने के बाद लाइसेंस जनरेट हो जाएगा।

- प्रोसेस पूरी होने के बाद लर्निंग लाइसेंस का प्रिंट निकाल सकते हैं।

वर्जन-

प्रदेश में 2 अगस्त से लर्निंग लाइसेंस आनलाइन हो जाएगा। इसे आधार से लिंक किया गया है। कार्यालय आने की जरूरत नहीं है। डुप्लीकेट लाइसेंस व लाइसेंस नवीनीकरण 1 सितंबर से आनलाइन किया जाएगा।

मुकेश जैन, आयुक्त परिवहन विभाग

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local