ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। संगीत की विरासत को सहजने और उसे आगे बढ़ाने के लिए ग्वालियर को संगीतधानी बनाने हर प्रबुद्घजन, समाजसेवी व व्यापारी वर्ग नईदुनिया की पहल पर संकल्पबद्घ नजर आ रहा है। भाजपा की महापौर पद की प्रत्याशी सुमन शर्मा व कांग्रेस की महापौर उम्मीदवार डा. शोभा सिकरवार ने भी शुक्रवार को जनसंपर्क के दौरान शपथ ली। उन्होंने स्वयं व समर्थकों के साथ संकल्प लिया कि शहर को संगीतधानी के नाम से प्रचारित कर ग्वालियर को देश-विदेश में नई पहचान दिलाएंगी।

ग्वालियर शहर ध्रूपद का जनक कहा जाता है। संगीत सम्राट तानसेन और उनके गुरु मोहम्मद गौस का मकबरा भी शहर में है। वहीं देश के विख्यात सरोद वादक अमजद अली खान की जन्म भी यहीं हुआ था। उनके वालिद उस्ताद हाफिज अली खान का सरोद घर भी इसी संगीतधानी में है। इसके अलावा ग्वालियर की गायिकी को पहचान देने वाले हस्सू-हद्दू खान की समाधि व उनकी स्मृति में बनाया गया ध्रुपद कें“ भी यहीं है। संगीत मर्मज्ञ राजा मानसिंह तोमर की कर्मस्थली और संगीत की शिक्षा-दीक्षा के लिए संगीत महाविद्यालय भी इसी शहर में है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया व नरेंद्र सिंह तोमर के अलावा सांसद विवेक नारायण शेजवलकर भी नईदुनिया की पहल पर शहर को संगीतधानी के रूप में नई पहचान दिलाने की इच्छा जता चुके हैं।

शहर की विशिष्ट पहचान संगीत है। कहा भी जाता है कि संगीतधानी में बच्चा रोता भी है तो सातों सुरों में। इस शहर को संगीतधानी के रूप में नई पहचान मिलनी ही चाहिए। इसके लिए मैं संकल्प लेती हूं और अन्य लोगों को भी प्रेरित करूंगी। महापौर पद के लिए निर्वाचित होने पर परिषद में संकल्प भी पारित कराऊंगी।

सुमन शर्मा, महापौर उम्मीदवार, भाजपा

यह शहर पहले से ही संगीतधानी है, बस केवल हम लोगों को इसे संगीतधानी के रूप में प्रचारित कर नई पहचान देनी है। मैं संकल्प लेती हूं कि अभी से ग्वालियर को संगीतधानी के रूप में प्रचारित करूंगी और लोगों को भी इसके लिए प्रेरित करूंगी। साथ ही परिषद में संकल्प पारित कराने का भी प्रयास करूंगी।

डा. शोभा सिकरवार, महापौर उम्मीदवार, कांग्रेस

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close