Gwalior School Activity News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बच्चों का एक साथ तीन घंटे स्कूल में रहना मुश्किल हो रहा है। वे काफी समय बाद स्कूल पहुंचे हैं। कोविड की वजह से अभी तक घर से आनलाइन पढ़ाई कर रहे थे। वीनस पब्लिक स्कूल के संचालक विवेक गुप्ता ने बताया कि बच्चों को कक्षाओं से बांधे रखने के लिए शिक्षकों मनोरंजन प्रदान करने वालीं गतिविधियों का संचालन करना पड़ रहा है, जिससे बच्चों को पढ़ाई उबाऊ न लगे। बच्चों को दो साल जनरल प्रमोशन मिला है। कुछ बच्चे एलकेजी से यूकेजी में तो आए, लेकिन किताबों से वे दूर हो गए हैं। उन्हें मूवी और आडियो से पढ़ाना पड़ रहा है। कक्षा में परेशान दिखने वाले बच्चों की शिक्षक काउंसलिंग कर रहे हैं। वहीं पहली कक्षा से लेकर पांचवीं तक की पढ़ाई में बदलाव किया गया।

लर्निंग का बदला तरीका

सेंट्रल एकेडमी स्कूल संचालक के विनय झलानी ने बताया कि बच्चों को पढ़ाने के लिए आडियो और वीडियो का सहारा लिया जा रहा है। कक्षा में शिक्षकों को अगर कोई टापिक समझाना होता है तो सबसे पहले उन्हें आडियो सुनानी पड़ती है। दो साल में बच्चे टेक्नोफ्रेंडली नजर आ रहे हैं। आर्ट एंड क्राफ्ट तो उनके लिए जैसे जरूरी हो गया है।

म्यूजिक और डांस एक्टीविटी अनिवार्य

एलएएचएस की प्राचार्य शबाना ने बताया कि कक्षा को रोचक बनाने लिए बीच-बीच में म्ूयजिक और डांस एक्टिविटी कराई जा रही हैं। इससे बच्चों को बोरियत खत्म हो जाती है। वे खुद को फ्रेश महसूस करते हैं। बच्चों के दिल में कोरोना का डर है। उन्हें अभिभावकों ने संक्रमण के बारे में काफी कुछ सिखाया। यह उनसे हुई चर्चा में स्पष्ट हो चुका है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local