Gwalior Smart City News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर स्मार्ट सिटी हेरिटेज इमारतों को अपनेगौरव को वापस लाने का लगातार प्रयास कर रहा है। भारत सरकार की स्मार्ट सिटी मिशन के दूसरे चरण में वर्ष 2016 में ग्वालियर को स्मार्ट सिटी के रूप में शामिल किया गया है। इसके बाद ग्वालियर स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड की स्थापना भारतीय कंपनी अधिनियम 2013 के तहत की गई। अपनी टेग लाइन विरासत का संरक्षण, विकास का दर्पण पर दृष्टी रखते हुए शहर में विकास कार्य किए जा रहे हैं।

स्मार्ट सिटी सीईओ जयति सिंह के नेतृत्व में शहर की ऐतिहासिक इमारत को पुर्नस्थापित किया जा रहा है। ग्वालियर अपने अभिजात्य महलों, किले की विशालता और उनकी वास्तुकला शैलियों की एक श्रृंखला के लिए जाना जाता है, जिनमें द्राविड, मुगल, मराठा, ब्रिटिश और यूरोपीयन वास्तुशैली शामिल है। शहर में स्थापित ऐसी ऐतिहासिक इमारतें जो जर्जर और अपनी वैवभता को खो चुकी थीं, उन्हें फिर से स्थापित किया जा रहा है। गोरखी परिसर स्थित स्काउट एंड गाइड की ऐतिहासिक इमारत को आधुनिक डिजीटल संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया है।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags