Bomb Alert on Gwalior Station: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक पर सोमवार को बम रखने की सूचना से शहर पुलिस, जीआरपी व आरपीएफ में हड़कंप मच गया। इसके बाद पुलिस ने तत्काल प्रभाव से प्लेटफार्म नंबर एक को खाली करा दिया। बम स्क्वायड बम तलाशने में जुट गया और चप्पे की तलाशी ली, लेकिन बम नहीं मिला। साथ ही सर्कुलेटिंग एरिया में वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई। प्लेटफार्म नंबर एक पर जो तीन ट्रेनें आने वाली थीं, उन्हें दो व तीन नंबर प्लेटफार्म पर ले जाया गया। इससे यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। जो लोग एक नंबर प्लेटफार्म पर ट्रेन के इंतजार में खड़े थे, उन्हें दो व तीन नंबर प्लेटफार्म तक सामान लेकर जाना पड़ा। जिन मोबाइल नंबर से फोन आया था, फोन करने के बाद से बंद आ रहा है। पुलिस ने दो घंटे तक बम काे तलाशा, लेकिन कुछ नहीं मिला।

प्लेटफार्म नंबर एक पर गतिमान एक्सप्रेस, समता एक्सप्रेस, कर्नाटक संपर्क क्रांति के यात्री ट्रेन के इंतजार में खड़े हुए थे। बड़ी संख्या में शहर पुलिस, बम स्क्वायड के साथ स्टेशन पर पहुंची। साथ ही प्रशासन के अधिकारी भी थे। बड़ी संख्या में पुलिस बल को देखकर यात्री भी हैरान हो गए। यात्रियों को प्लेटफार्म नंबर एक खाली करने के लिए कहा गया। इन ट्रेनों के इंतजार में जो यात्री खड़े थे, उन्हें सूचना दी गई कि ये ट्रेनें दो व तीन नंबर प्लेटफार्म से जाएगी। इन ट्रेनों के यात्री दो नंबर व तीन नंबर प्लेटफार्म पर चले गए। जो यात्री खड़े रह गए, उन्हें वहां से जाने के लिए कहा गया। इसके बाद यात्री सर्कुलेटिंग व दूसरे प्लेटफार्म पर चले गए। एक नंबर प्लेटफार्म पर आवाजाही भी रोक दी। डाग स्क्वायड व बम डिटेक्टर से प्लेटफार्म फर तलाशी शुरू कर दी गई। डस्टबिन, कुर्सी, वेटिंग हाल, फुटओवर ब्रिज, खान-पान के स्टाल, यात्रियों के बैग सहित अन्य सामान की जांच की। झांसी एंड से आगरा एंड तक हर जगह जांच की। प्लेटफार्म की जांच होने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। उसके बाद ताज एक्सप्रेस को प्लेटफार्म नंबर एक पर लाया गया। यात्रियों की आवाजाही शुरू की गई।

यह बन गए हालात

-प्लेटफार्म नंबर एक के सर्कुलेटिंग एरिया के प्रवेश द्वार(एंबियंस होटल के पास) पर बैरीकेट्स लगा दिए गए। पुलिस जवानों को खड़ा कर दिया। चार पहिया व दाेपहिया वाहनों को रोक दिया गया। यात्रियों काे स्टेशन तक पैदल जाना पड़ा।

-आरक्षण टिकट कार्यालय को भी खाली कराया गया। गेट लगा दिए गए। इस कारण टिकट मिलना बंद हो गए। सामान्य टिकट कार्यालय में भी यात्रियों को खड़ा नहीं होने दिया गया।

-यात्रियों को किसी भी अंजान चीज को छूने से मना किया गया। साथ ही संदिग्ध स्थिति में जो लोग दिखे, उनसे पूछताछ भी की गई।

फोन करने वाला पहले भी कर चुका है इस तरह की हरकतः

-पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि जिस व्यक्ति ने बम की सूचना दी थी, वह पहले भी इस तरह की हरकत कर चुका है। अब उसको मोबाइल नंबर से ट्रैस किया जा रहा है। हालांकि उसका नंबर बंद होने से लोकेशन ट्रैस नहीं हो पा रही है।

-इस सिरफिरे की गलत सूचना से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close