Gwalior Station redevelopment: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक सतीश कुमार ने सोमवार को ग्वालियर स्टेशन पुनर्विकास परियोजना का प्रेजेंटेशन देखा। इस दौरान उन्होंने निर्माण विभाग के अधिकारियों को साफ हिदायत दी कि आप आने वाले 40 वर्षों का विजन इस प्रेजेंटेशन में दिखा रहे हैं। काम भी उसी के मुताबिक होना चाहिए। प्रेजेंटेशन में निकास द्वार पर उतरने के लिए सीढ़ियां और एस्केलेटेर का प्रविधान देखकर उन्होंने कहा कि यदि किसी व्यक्ति को अचानक वापस जाना पड़े, तो उसके लिए वापस चढ़ने के लिए एस्केलेटर की व्यवस्था की जाए। इसके अलावा उन्होंने सर्कुलेटिंग एरिया के साथ ही अंडरग्राउंड पार्किंग का प्रविधान करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने निर्देश दिए कि पुनर्विकास कार्य के दौरान यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े और ट्रेनों के संचालन पर भी इसका अधिक असर नहीं पड़ना चाहिए।

महाप्रबंधक सोमवार की सुबह बुंदेलखंड एक्सप्रेस से ग्वालियर आए। स्टेशन पर उतरते ही उन्होंने चार नंबर प्लेटफार्म की ओर तैयार कराई जा रही वाशिंग पिट का निरीक्षण किया। इस दौरान वाशिंग पिट पर साफ-सफाई का काम चलता देख उन्होंने कहा कि मेरे आने पर ही यह साफ-सफाई दिख रही है। स्टेशन पर हमेशा सफाई व्यवस्था दुरुस्त रहनी चाहिए। निरीक्षण के दौरान उन्होंने वाशिंग की मोटाई कम होने पर अधिकारियों को फटकारा कि आप लोग देख क्या रहे हैं। उन्होंने काम रोकने के निर्देश दिए और कहा कि गुणवत्ता के हिसाब से काम होना चाहिए। इसके बाद उन्होंने वीआइपी लाउंज में स्टेशन पुनर्विकास परियोजना का प्रेजेंटेशन देखा। इस प्रेजेंटेशन को देखने के बाद उन्होंने यात्री सुविधा बढ़ाने के निर्देश दिए और कहा कि आप यदि फुट ओवरब्रिज तोड़ें, तो तोड़ने से पहले नया ओवरब्रिज तैयार कर दें, ताकि यात्रियों को एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म तक जाने में परेशानी न हो। इसके अलावा उन्होंने कहा कि रेलवे का मतलब ट्रेनों का चलना है। ऐसे में ट्रेनें चलती रहनी चाहिए। कम से कम ब्लाक लेकर कार्य कराया जाए। जिन रेल कर्मचारियों के आवास तोड़े जा रहे हैं, उससे बेहतर आवास तैयार कर उन्हें दिए जाएं। इस परियोजना की प्रगति से जुड़ी हर दिन की रिपोर्ट एक वाट्सएप ग्रुप बनाकर उसमें डाली जाए।

24 घंटे चालू रहें बिलिंग मशीनें

स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान उन्होंने खानपान स्टाल चेक किए और अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रत्येक स्टाल पर बिलिंग मशीनें चालू रहनी चाहिए। हर यात्री को सामान के साथ में बिल दिया जाए। जो स्टाल संचालक ऐसा न करनें, उनका लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाए। प्रेजेंटेशन देखने के बाद उन्होंने अधिकारियों के साथ स्टेशन के हर हिस्से का निरीक्षण किया और यात्री सुविधाओं में सुधार करने के निर्देश दिए।

भूमिपूजन की तारीख तय नहीं

पत्रकारों से बातचीत के दौरान महाप्रबंधक सतीश कुमार ने कहा कि ग्वालियर स्टेशन पुनर्विकास परियोजना बहुत ही महत्वपूर्ण है और मैं स्वयं इसकी निगरानी कर रहा हूं। उन्होंने बताया कि अभी भूमिपूजन की तारीख और मुख्य अतिथि तय नहीं हुए हैं, लेकिन जल्द ही सब फाइल कर लिया जाएगा। वाशिंग पिट के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि इस पिट का कार्य 2021 में ही समाप्त हो जाना चाहिए था। अब आगामी जुलाई माह तक इसका काम पूरा करने के लिए कहा गया है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close