Gwalior Traffic News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शिंदे की छावनी से रामदास घाटी रोड तक रविवार की दोपहर वाहन चालकों के लिए परेशानी खड़ी हो गई। यहां बिजलीघर के आगे तिराहा पर बीचों बीच निगम ने पानी की लाइन फूटने पर थ्रीडी मशीन से खुदाई कर काम शुरू कर दिया, लेकिन इस दाैरान ट्रैफिक की परवाह नहीं की। घंटों रेंग-रेंगकर वाहन निकले और पूरी सड़क जाम के हवाले रही। स्थानीय लोगों ने जाम न खुलता देख पुलिस कंट्रोल रूम पर फोन किया, लेकिन कोई जाम खुलवाने नहीं आया।

नगर निगम को रामदास घाटी रोड पर पानी की लाइन फूटने की शिकायत मिली थी। नगर निगम के पीएचई विभाग ने थ्रीडी मशीन और मजदूर भेजे। बीच रोड पर थ्रीडी मशीन और खुदाई के काम ने पूरा ट्रैफिक ही जाम कर दिया। यहां बैरिकेट लगाकर पहले ट्रैफिक को डायवर्ट करना था और तब खुदाई का काम शुरू करना था। शिंदे की छावनी गोलंबर से लेकर घाटी तक वाहनों की कतार लगी रही। काफी देर तक ट्रैफिक थम भी गया और इसमें बड़े-छोटे सभी वाहन फंस गए।

ठेले, डिवाइडर फिर वाहन, बुरा हालः शिंदे की छावनी रोड पर पुलिस ने सीमेंट के डिवाइडर इस रोड पर रख दिए हैं, जिस कारण रोड की चौड़ाई कम हो गई है। इसके बाद शिंदे की छावनी पर लगने वाले फल और सब्जी के ठेले सड़क घेर लेते हैं। इन दो कारणों से शिंदे की छावनी मार्ग पर हर रोज पीक टाइम पर जाम लगता है। खास बात यह है कि हाथ ठेले वालाें के लिए हॉकर्स जाेन भी तैयार कराया गया है, लेकिन निगम के मदाखलत अमले ने कभी भी ठेले वालाें काे वहां पहुंचाने का प्रयास नहीं किया।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags