Gwalior Transport Department News: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। परिवहन विभाग ने महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के बीच बस सेवा के आवागमन पर 30 अप्रैल तक प्रतिबंध लगा दिया है। इन दोनों राज्यों में बढ़ते कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया है। दोनों राज्यों से आने वाली बसों को बार्डर पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

महाराष्ट्र में कोविड-19 का संक्रमण बढ़ने से 21 मार्च से 15 अप्रैल के बीच बस सेवा पर रोक लगाई थी। मध्य प्रदेश से महाराष्ट्र के लिए हर तरह की बस बंद थी। सीमाओं पर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। छत्तीसगढ़ कोविड-19 का संक्रमण बढ़ने के बाद 7 अप्रैल से 15 अप्रैल के बीच बस सेवा बंद कर दी थी, लेकिन बस सेवा बंद करने की मियाद खत्म हो गई, लेकिन दोनों राज्यों में संक्रमण काफी फैला हुआ है, लोगों का पलायन जारी है। पलायन से प्रदेश में सक्रमण नहीं फैले, उसको लेकर विभाग ने दोनों राज्यों से बसों के आवागमन पर 30 अप्रैल तक रोक लगा दी है।

40 फीसद बसें रहीं रद, जो चली उन्हें नहीं मिली सवारियांःकोरोना कर्फ्यू के पहले दिन बसों पर भी असर दिखा। बस स्टैंडों पर यात्रियों की संख्या घट गई, जिससे बसों को सवारियां नहीं मिलीं। इस कारण कई आपरेटरों ने बसों को रवाना ही नहीं किया। जो बसें रवाना हुई, उन्हें पर्याप्त यात्री नहीं मिले। इस कारण बस का खर्च भी नहीं निकल सका। कोरोना कर्फ्यू के दौरान बस सेवा पर प्रतिबंध नहीं लगाया है। रोज की तरह गुरुवार को भी बसें चलने के लिए तैयार थीं, लेकिन बस स्टैडों पर यात्री नहीं आए। दूसरे जिलों से जो बसें आ रही थीं, उनमें भी यात्रियों की संख्या न के बराबर थी। बस आपरेटर पदम गुप्ता का कहना है कि यात्री नहीं मिलने से बस रद करनी पड़ी। करीब 40 फीसद बसें नहीं चली।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags