Gwalior Unlock 3.0: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। कोरोना संक्रमण का आंकड़ा गिरने के बाद अब अनलाक में और राहतें जल्द ही मिलेंगी। बाजारों के खुलने का समय बढ़ाने के साथ ही अब शापिंग मॉल, जिम, कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल भी खोले जाएंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने रविवार को अनलाक में राहतें बढ़ाने के यह सुझाव आनलाइन मीटिंग में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने जिला आपदा प्रबंधन समिति की ओर से दिए। जिले से इन प्रस्तावों को स्वीकृति मिलने के बाद 15 जून से यह राहत ग्वालियर को मिल सकतीं हैं। वहीं शादी समारोह में वर-वधु पक्ष की ओर से 20-20 लोगों को अनुमति रहेगी।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी 52 जिलों की आपदा प्रबंधन समितियों के सदस्यों से चर्चा की। उन्होंने समिति के सभी सदस्यों को कोरोना संक्रमण में सक्रिय रूप से कार्य करने पर बधाई दी। ग्वालियर की जिला आपदा प्रबंधन समिति ने आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने के संबंध में अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए। ग्वालियर के एनआइसी कक्ष में आयोजित आपदा प्रबंधन समिति की बैठक क्षेत्रीय सांसद विवेक नारायण शेजवलकर की अध्यक्षता में हुई। बैठक में आर्थिक गतिविधियों को प्रारंभ करने के लिए सांसद शेजवलकर ने मुख्यमंत्री को महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए। बैठक में भाजपा के जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल, मदन कुशवाह, ग्रामीण भाजपा अध्यक्ष कौशल शर्मा, बीएसपी के जिला अध्यक्ष रामवीर, चेम्बर आफ कामर्स सचिव प्रवीण अग्रवाल, कैट के अध्यक्ष भूपेंद्र जैन सहित प्रशासनिक अधिकारियों में संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना, आइजी अविनाश शर्मा, चंबल आइजी, डीआइजी ग्वालियर राजेश हिंगणकर, कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक अमित सांघी, नगर निगम आयुक्त शिवम वर्मा, एडीएम रिंकेश वैश्य, सीएमएचओ डा. मनीष शर्मा सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

आपदा प्रबंधन समिति की बैठक में यह दिए सांसद ने सुझावः सांसद शेजवलकर ने कहा- निर्धारित संख्या और टीकाकरण की पाबंदी के साथ मॉल को भी प्रारंभ किया जाना चाहिए। इसके साथ ही कोचिंग सेंटर, जिम और स्वीमिंग पूल को भी निर्धारित संख्या और सभी सावधानियों के साथ कुछ समय के लिए प्रारंभ करने की अनुमति प्रदान की जाना चाहिए। उन्होंने ने कोचिंग सेंटरों को भी निर्धारित संख्या के साथ प्रारंभ करने का सुझाव दिया। समिति की ओर से शादी समारोह के लिए भी निर्धारित संख्या में अनुमति प्रदान करने का सुझाव दिया गया। सांसद ने अन्य व्यवसायिक गतिविधियों को निर्धारित समय के लिए ही प्रारंभ करने की बात कही। शाम के समय बाजारों में भीड बढ़ने की संभावनाओं को देखते हुए आर्थिक गतिविधियों के लिए निश्चित समय सीमा तय किए जाने का भी सुझाव दिया।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags