- प्रत्याशियों के रिश्तेदारों ने संभाली प्रचार की कमान

- पार्षद टोलियों के साथ वार्डों में जनसंपर्क कर रहे हैं,

-कांग्रेस ने परंपरागत रूप से लाउडस्पीकर वाली गाड़ियां दौड़ाई, इन गाड़ियों में एलइडी भी लगीं हैं

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर सरकार के लिये महापौर उम्मीदवारों से लेकर पार्षदों ने जोर-शोर से प्रचार करना शुरू कर दिया है। भाजपा महापौर पद के लिये अपने चुनाव प्रचार का ट्रेंड चेंज किया है। महापौर प्रत्याशी सुमन शर्मा के लिए समर्थन जुटाने के लिए वर्ग विशेष के साथ बैठकों का दौर शुरू कर दिया है। वर्ग विशेष के मुखिया की मदद से बैठकें की जा रहीं हैं। इन बैठकों में रात्रि भोज दिया जा रहा है। व्यापारियों के साथ हुई बैठक में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा महापौर उम्मीदार के साथ मौजूद थे। व्यापारियों की बैठक का आयोजन राजकुमार कुकरेजा ने किया था। दूसरी तरफ कांग्रेस उम्मीदवार डा शोभा सिकरवार ने विधायक पति के माध्यम से सामाजों की बैठकें करना शुरू कर दी है। इन बैठकों में विधायक समाज के लोगों को हमेशा साथ रहने का वादा कर रहे हैं। कांग्रेस ने भाजपा के अभेद्य किले को भेदने के लिए महापौर प्रत्याशी जलकर माफ व सपंतिकर हाफ जैसे वादे कर मतदाताओं को लुभा रहे हैं। यह जुमला दिल्ली का है। आप पार्टी भी दिल्ली की स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर वोट मांग रही है। उम्मीदवारों के नजदीकी रिश्तेदार अपना काम-धंधा छोड़कर चुनाव प्रचार में मदद के लिए आ गये हैं।

पररपंरागत प्रचार से भाजपा ने फिलहाल दूरी बनाईं- भाजपा ने परंपरागत शोर मचाने वाले प्रचार से दूरी बना रखी हैं। भाजपा के रणनीतिकरों का कहना हैं कि इस तरह का प्रचार आवश्यकता पड़ी तो प्रचार के अंतिम दौर में करेंगें। फिलहाल तो भाजपा महापौर प्रत्याशी व अपने नेताओं व कार्यकर्ताओं के माध्यम से मतदाताओं तक सीधे पहुंचने का प्रयास कर रही हैं। बैठकों के दौर चल रहे हैं। प्रतिदिन स्थिति का समाज व क्षेत्रवार आकलन किया जा रहा है। कहां-कहां किस नेता का प्रभाव हैं। वहां उस नेता को भेजा जा रहा है। किस वार्ड में ब्राह्णण वैश्य, क्षत्रिय कुशवाह, प्रजापति समाज, पाल-बघेल का जनसंख्या अधिक हैंं। उन क्षेत्रों में उसी वर्ग के नेताओं को भेजकर बैठकें कराईं जा रहीं हैं। बैठकों का इंतजाम चुनाव कार्यालय द्वारा किया जा रहा है।

सरपंचों के आठ साल के काम देख उम्मीदवार भी जोश में-ये भी पढ़िए

कांग्रेस ने पूरी ताकत लगाईं- कांग्रेस परंपरागत चुनाव प्रचार के साथ जनसपंर्क पर जोर दे रही है। गली-मोहल्लों में प्रचार के लिए गाड़ियों को दौड़ना शुरू कर दी हैं। कांग्रेस माहौल बनाने के लिये कोई कसर नहीं छोड़ रही है।

रिश्तेदार ने चुनाव प्रचार का मोर्चा संभाला- महापौर से लेकर पार्षद प्रत्याशियों के घरों पर नजदीकी रिश्तेदारों ने डेरा डाल लिया है। मामा-फुफा, बहनोई, भांजे, साले व भतीजें चुनाव प्रचार में मदद करने के लिए आ गये हैं। यह लोग प्रचार-सामग्री के वितरण से लेकर भोजन व्यवस्था का इंतजाम संभाल रहे हैं। इसके अलावा प्रत्याशी के साथ जनसंर्पक करने के लिए जा रहे हैंं। इन रिश्तेदारों की नजर पैसे के अपव्यय को रोकने पर है। क्योंकि प्रत्याशी किसी से कुछ बोल पाता नहीं है। कार्यकर्ताओं की डिमांड पर वह कार्यकर्ताओं से कह देता है। इस संबंध में जीजाजी व फुफाजी के बात कर लेना। कोई दिक्कत आए तो मुझे बता देना।

शिवराज, कमल नाथ व महेंद्र सिसौदिया को लाने की तैयारी

पहले चरण के चुनाव प्रचार में भाजपा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उतारने की तैयारी कर रही है। 27 जून को शिवराज चौहान के रोड शो के साथ एक सभा की तैयारी की जा रही है। दूसरी तरफ कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ का 29 जून को रोड-शो कराने की तैयारी कर रही है। आप पार्टी संजय सिंह, महेंद्र सिसौदिया को बुला रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से टाइम मांगा है।

पार्षद उम्मीदवारों ने जनसंपर्क में झोकी पूरी ताकत- पार्षद उम्मीदवार परंपरागत रूप से चुनाव प्रचार कर रहे हैं। गली-मोहल्लों के मुखियों के पास प्रचार-सामग्री भेज रहे हैं। पार्षद उम्मीदवारों के सामने दंडवत भी हो रहे हैं।

इंटरनेट मीडिया पर प्रचार-प्रसार शुरू- महापौर से लेकर पार्षदों ने इटनरमेट मीडिया पर प्रचार के लिए अपने ग्रूप बना रखे है। आज कहां जनसंपर्क हैं। और जनसंपर्क के फोटो भी इंटरनेट मीडिया पर अपलोड किया जा रहा है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close