ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर के गिरवाई इलाके में एक इंजीनियर के मकान काे कुछ लाेगाें ने हथगाेले फेंककर उड़ाने का प्रयास किया। हालांकि हथगाेले फटे नहीं, इसलिए परिवार पूरी तरह सुरक्षित है। सुबह जब इंजीनियर ने छत पर हथगाेले पड़े देखे ताे पुलिस काे सूचना दी। पुलिस टीम बम डिस्पाेजल स्क्वॉड के साथ इंजीनियर के घर पहुंची। इसके बाद छत पर पड़े दाेनाें हथगाेलाें काे डिस्पाेज करके जब्त कर लिया गया है। पुलिस पड़ताल में जुटी है कि आखिर किसने छत पर हथगाेले फेंके हैं।

गिरवाई में बाबा की पहाड़ी निवासी मनाेज पुत्र जसराम कुशवाह ई कॉम एक्सप्रेस लिमिटेड कंपनी में इंजीनियर हैं। गिरवाई इलाके में उन्हाेंने नया घर बनाया है। पहले वह सामने स्थित एक मकान में किराए से रहते थे। मनाेज के परिजन बीते राेज सुबह जब साफ सफाई के दाैरान छत पर सफाई करने पहुंचे ताे वहां पर कुछ गाेले पड़े दिखाई दिए। जब मनाेज काे बुलाया ताे उसे मामला गड़बड़ लगा। इसके बाद पुलिस काे सूचना दी गई। पुलिस जवानाें ने पहुंचकर जांच की ताे हथगाेले देखकर हैरान रह गए। इसके बाद बम डिस्पाेजल स्क्वॉड काे बुलाया गया। टीम ने दाे बमाें काे डिस्पाेज करने के बाद जब्त कर लिया है। प्राथमिक जांच में ऐसा लग रहा है कि इंजीनियर के मकान काे उड़ाने के लिए हथगाेले फेंके गए थे, लेकिन किस्मत अच्छी थी इसलिए फटे नहीं और पूरा परिवार सुरक्षित है। यदि यह हथगाेले फट जाते ताे केवल इंजीनियर का मकान ही नहीं बल्कि आसपास के मकानाें काे भी नुकसान पहुंचने की आशंका थी। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local