Health Tips: अजय उपाध्याय, ग्वालियर नईदुनिया। बारिश में भीगने पर बीमार हो सकते हैं। इससे बचने के लिए आपको ध्यान रखना होगा। कुछ घरेलू नुक्से भी अपनाने होगें, जो आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं। घर में नहाते वक्त पानी का तापमान सामान्य होता है, पर बारिश में पानी ठंडा होता है, जो आपको बीमार कर सकता है।जब यह पानी शरीर पर गिरता है तो शरीर के तापमान में अचानक से परिवर्तन होता है। शरीर की प्रतिरोधक क्षमता पर बुरा प्रभाव पड़ता है, क्योंकि अचानक से तापमान में बदलाव होता है। इस कारण सर्दी, जुकाम,बुखार के शिकार बन सकते हैं। डा विनीत चतुर्वेदी का कहना है कि भारी भोजन करने से बचना चाहिए और पौष्टिक अहार लेना चाहिए।

बारिश में भीगने का आनंद लेने के बाद अपनी पसंद का सूप बनाकर पी सकते हैं। सब्जियों का सूप पीने से शरीर में गर्मी आएगी। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। सूप पीने से सभी मिनरल्स की पूर्ति होती है। इस सूप में अदरक, काली मिर्च और लहसून जैसी घरेलू औषधियों का उपयोग तथा लहसून युक्त सूप और करी का सेवन करना चाहिए। बारिश में बाल गीले होने से सिर में ठंडक रहेगी और सर्दी, जुकाम, बुखार हो सकता है, इसलिए बालों पर पालीथिन लगाकर बारिश में जाएं। बारिश में भीगने के बाद ज्यादा देर तक गीले ना रहें। इससे भी स्वास्थ खराब होने की आशंका रहती है। भीगने के बाद तुरंत कपड़े बदलें। शरीर को सामान्य तापमान पर लाने से बीमार होने से बच सकेंगे। बारिश में भीगने के बाद गर्मा गर्म चाय या काफी पिएं, इससे शरीर में गर्माहट होने से सर्दी नहीं लगेगी। चाहें तो काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं। काली मिर्च, लौंग, अदरक, तुलसी आदि डालकर काढ़ा तैयार कर सकते हैं. चाहें तो चाय में भी काली मिर्च, तुलसी, अदरक डालकर पी सकते हैं। इससे शरीर की इम्यूनिटी बढ़ेगी। बच्चों को भी सूप,चाय व थोड़ी मात्रा में काढ़ा भी पिला सकते हैं। डर भी लगता है कि बारिश के पानी से भीगकर कहीं बीमार ना पड़ जाएं. सर्दी-जुकाम और बुखार के डर से भीगना टाल देते हैं। बच्चे तो भीगकर ही मानते हैं, कुछ बातों को ध्यान रखकर बारिश की फुहारों में भीगने का मजा लिया जा सकता है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close