ग्वालियर। स्वच्छता के पायदान में ग्वालियर शहर के खिसकने से हाईकोर्ट बहुत चिंतित है। हाईकोर्ट ने कहा कि ग्वालियर में गंदगी का अंबार है, नाली और सीवर की सफाई नहीं हो रही है। नगर निगम से कहा कि यदि आपके अधिकारी काम नहीं करेंगे तो हम उन्हें दंडित करना शुरू कर देंगे। शहर में डेंगू के बाद स्वाइन फ्लू के प्रकोप पर भी नगर निगम को फटकार लगाई और अगले सप्ताह तक इसके रोकथाम के संबंध में निगम से रिपोर्ट मांगी।

59वें नंबर पर ग्वालियर

इस बार स्वच्छता सर्वें में टॉप टेन में आना तो दूर, ग्वालियर 2018 की पॉजीशन को भी बरकरार नहीं रख सका। पिछले साल की तुलना में स्वच्छता सर्वेक्षण के दौरान तीन माह के लिए करीब 1 हजार सफाई कर्मचारी अतिरिक्त लगाए, 5 करोड़ रुपए ज्यादा खर्च किए लेकिन रैंकिंग में 31 पायदान नीचे गिर गए। पिछले साल 28वां स्थान था जबकि इस बार सफाई पर करीब 24 करोड़ रुपए खर्च करने के बाद भी 59वें नंबर पर जा पहुंचे हैं।

Posted By: