ग्वालियर,(नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर-शिवपुरी हाइवे पर अर्टिगा कार के ड्राइवर को कट्टे की नोंक पर दो बदमाशों ने बंधक बनाया, उसके हाथ-पैर और मुंह बांधकर जंगल में छोड़ दिया। फिर उसकी कार लूटकर भाग गए। दोनों बदमाश मोहना बस स्टैंड से शीतला माता मंदिर जाने के लिए किराए पर कार लेकर निकले थे। रास्ते में कार ही लूट ली। ड्राइवर के साथ मारपीट भी की है। इस मामले में गुरुवार देर रात एफआइआर दर्ज की गई, जबकि घटना दिन की है। इस सनसनीखेज वारदात के बाद हाइवे पर पुलिस अलर्ट हो गई है, जगह-जगह चेकिंग पाइंट लगाए गए हैं। क्राइम ब्रांच की भी एक टीम लगाई गई है, जो टोल नाकों पर सीसीटीवी कैमरों के फुटेज देख रही है।

मोहना का रहने वाला रामेश्वर खटीक पेशे से ड्राइवर है। वह अर्टिगा कार किराए पर चलाता है। मोहना बस स्टैंड पर स्थित टैक्सी स्टैंड पर ही वह खड़ा होता है। गुरुवार दोपहर में उसके पास दो युवक आए, युवकों ने कहा कि सांतऊ स्थित शीतला माता मंदिर दर्शन करने जाना है। वहां उनके दोस्त इंतजार कर रहे हैं, इसके बाद पार्टी में शामिल होना है। कार किराए पर ली और शीतला माता मंदिर के लिए निकले। घाटीगांव इलाके में महारामपुरा तिराहा स्थित काली माता मंदिर के पास कार चालक पर कट्टा अड़ा दिया। उसकी कनपटी पर कट्टा रखकर बोले कि अगर चीखा तो गोली मार देंगे। कार में ही उसके हाथ-पैर बांधे, फिर मुंह पर टेप लगा दिया। उसे गाड़ी में पीछे डाल लिया। यह लोग कार चलाकर जंगल की तरफ निकले। यहां सूनसान इलाके में उसे कार से फेंका, जिससे चालक को चोट लगी हैं। चालक ने किसी तरह खुद को संभाला। वह यहां घिसट-घिसटकर बाहर की तरफ आ रहा था। तभी चरवाहा गुजरा। उसने हाथ-पैर खोलने में मदद की। घाटीगांव थाना प्रभारी शैलेंद्र गुर्जर ने बताया कि फिर वह सड़क पर आया। यहां राहगीरों को रोककर मोबाइल मांगा। इसके बाद 100 नंबर डायल कर पुलिस को सूचना दी। घाटीगांव थाने का फोर्स पहुंचा। रात 10 बजे इस मामले में लूट की एफआइआर दर्ज की गई। अभी आरोपित नहीं पकड़े गए हैं, इनकी तलाश चल रही है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close