ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जयाराेग्य अस्पताल के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल के फोर्थ फ्लाेर पर शनिवार की दाेपहर भीषण आग लग गई। बताया जाता है कि आग आइसीयू में लगी है, जहां पर काेराेना के करीब 9 मरीज भी भर्ती हैं। हपहले अस्पताल प्रबंधन ने खुद ही आग पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन जब आग बेकाबू हाेने लगी ताे दमकल अमले काे सूचना दी गई। घटना की सूचना मिलते ही जीआर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ एसएन अयंगर एवं जेएएच अधीक्षक डा आरकेएस धाकड़ भी माैके पर पहुंच गए हैँ। जानकारी के मुताबिक आग से एक मरीज भी झुलसा है। आईसीयू 20 बेड का था और 9 मरीज भर्ती थेा इनमें से दो मरीज झुलसे हैं। जनमें से एक की मौत हो गईा झुलसे हुए मरीज का उपचार चल रहा है। सभी मरीजों को तीसरे फलोर के आइसीयू में शिफट किया गया है।

जेएएच के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में काेराेना मरीजाें काे भर्ती किया जाता है। खबर है कि दाेपहर में करीब दाे बजे अचानक थर्ड फ्लाेर पर बने आइसीयू में आग लग गई। जिसमें वेंटिलेटर धूं-धूं करके जलने लगे। जैसे ही स्टाफ ने वार्ड से धुआं उठते देखा ताे हडकंप मच गया। तत्काल सिक्युरिटी स्टाफ काे सूचना दी गई और आग पर काबू पाने के प्रयास तेज किए गए। हालांकि तब तक आग इतनी फैल चुकी थी कि उस पर काबू पाना मुश्किल हाे रहा था, इसलिए दमकल अमले काे सूचना दी गई। बताया जाता है कि जिस फ्लाेर पर आग लगी है, वहां पर करीब दस काेराेना मरीज भी भर्ती हैं।

NaiDunia Live Video - ग्वालियर के कोविड अस्पताल सुपर स्पेशियलिटी में लगी आई. जान बचाकर भागे मरीज. #Gwalior news #MadhyaPradesh https://t.co/wIlg9adSTM

मरीजाें काे निकालने के प्रयास तेजः थर्ड फ्लाेर पर आगजनी की घटना के बाद स्टाफ एवं सिक्युरिटी स्टाफ भर्ती मरीजाें काे निकालने के प्रयास में जुट गया। सिक्‍युरिटी इंचार्ज परवेज खान सहित अन्‍य सुरक्षा कर्मचारी दौड्कर चौथे माले पर पहुंचे और उन्‍होंने पलंग सहित मरीजों को तीसरे माले के आइसीयू में शिफट कियाा।

दमकलों का नहीं हो पाया उपयोग आग लगने की सूचना के बाद दमकल दस्‍ता भी पहुंच गया। लेकिन सभी वाहन नीचे ही खडे रहे। सुरक्षा कर्मियों ने अग्नि शमन यंत्रों से ही आग पर काबू पाया। खासबात यह रही कि सभी सुरक्षा बलों ने ही आग पर काबू पा लिया और मरीजों को भी नीचे शिफट कर लिया। हालांकि सभी मरीज कोविड पाजिटिव थे।

अस्पताल में हडकंपः आगजनी की सूचना मिलते ही जेएएच में हडकंप मच गया। क्याेंकि सुपर स्पेशियलिटी में गंभीर मरीजाें काे रखा जाता है। इनमें से वेंटिलेटर वाले मरीज ताे अपनी जगह से हिल तक नहीं सकते हैं, जबकि कुछ मरीज अॉक्सीजन पर हैं। घटना की सूचना मिलते ही जीआर मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ एसएन अयंगर एवं जेएएच अधीक्षक सहित पुलिस फाेर्स भी माैके पर पहुंच गया है।

Posted By: vikash.pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस