ग्वालियर (ब्यूरो)। लोकसभा में पास होने के बाद मोटर व्हीकल एक्ट 2019 का गजट नोफिकेशन जारी हो चुका है। नए एक्ट के तहत यातायात नियमों का उल्लंघन करना आमजन को अब भारी पड़ सकता है। क्योंकि एक्ट में हुए संशोधन के बाद यदि आपने नाबालिग बच्चों को वाहन ड्राइव करने के लिए दिया तो बच्चे पर जुवेनाइल जस्टिस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज होगा। साथ ही अभिभावक या वाहन स्वामी के खिलाफ 25 हजार का जुर्माना एवं 3 साल की सजा भी हो सकती है। इसके अलावा घटिया सड़क बनाने वाले ठेकेदार पर भी 1 लाख की पेनल्टी का प्रावधान किया गया है।

बढ़ते सड़क हादसों को रोकने के लिए मोटर व्हीकल एक्ट में कुछ कड़े प्रावधान किए गए हैं। इससे की आम आदमी ट्रैफिक नियमों को लेकर सजग रहे। मोटर व्हीकल एक्ट का गजट नोफिकेशन 9 अगस्त को जारी हो चुका है। प्रदेश परिवहन आयुक्त शैलेन्द्र श्रीवास्तव ने इसकी कॉपी सभी आरटीओ को भेज दी है। अब से इन नए नियमों के तहत ही ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। खास बात ये है कि वाहन निर्माता कंपनी पर गाड़ी में गड़बड़ी करने पर 100 करोड़ तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। इसी प्रकार यदि कोई ठेकेदार घटिया सड़क का निर्माण करता है तो उस पर एक लाख की पेनल्टी लगाई जा सकती है।

किस नियम में कितना होगा जुर्माना

अपराध वर्तमान जुर्माना अब कितना लगेगा

बिना लायसेंस वाहन का अनाधिकृत प्रयोग 1000 5000

बिना लायसेंस वाहन चलाना 500 5000

ओवर स्पीड ड्रायविंग 400 1000

नशे में ड्रायविंग करने पर 2000 10000

सीट बेल्ट नहीं लगाना 100 1000

बीमा नहीं होने पर 1000 2000

बिना हेलमेट 100 1000

हिट एंड रन में पीड़ित को मुआवजा 25000 200000

दुर्घटना फंड का गठन

नए कानून में मोटर वाहन दुर्घटना फंड का गठन किया गया है। इसमें सड़क का इस्तेमाल करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को अनिवार्य बीमा कवर मिलेगा।

हार्ड कॉपी का इंतजार

सॉफ्ट कॉपी तो हमें मिल चुकी है, मंगलवार को कार्यालय खुलने पर हार्ड कॉपी मिलने पर ही कुछ बता सकते हैं - रिंकू शर्मा, एआरटीओ

Posted By: Nai Dunia News Network