ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के सबसे व्यस्त एलआइसी तिराहे पर तीन हजार वर्ग फीट का अवैध निर्माण अब अफसरों के आगे पहाड़ सा हो गया है। ग्वालियर सांसद विवेक शेजवलकर ने इसके सबूत देते हुए जिले के कलेक्टर व नगर निगम आयुक्त को पत्र लिख चुके हैं। बिना परमिशन कुल 16 हजार वर्ग फीट खुली जमीन पर अवैध निर्माण कर कैफेटेरिया खड़ा कर दिया गया, बाहर ग्रीन तिरपाल लगाकर काम चलता रहा। सांसद ने खेद जताया और आश्चर्य का विषय भी बताया। अब ग्वालियर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि उन्होंने इस अवैध निर्माण को तोड़ने के लिए नगर निगम को निर्देशत कर दिया था। इसपर नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल का कहना है कि अवैध निर्माण रूकवा दिया था, मैं दिखवा लेता हूं। हैरानी बात है कि सांसद के पत्र और निर्देश के बाद भी यह हाल है जबकि यही ग्वालियर नगर निगम जरा से अवैध तोड़ने के लिए तत्काल पहुंच जाता है।

यहां यह बता दें कि एलआइसी तिराहा ट्रैफिक के लोड व जाम को लेकर बड़ी परेशानी बना हुआ है। पुलिस अफसरों ने यहां कई प्रयोग किए,बैरिकेड लगाए तब जाकर यह तय किया बीच में जो छोटी त्रिकोणीय रोटरी सी है वह हटा दिया जाए। इस खुली भूमि के पीछे बसंत विहार मार्ग को भी विकल्प बताया गया। यहां तिराहनुमा निर्माण हटाने के बाद थोड़ी राहत जरूर हुई लेकिन पीक समय पर असमंजस की स्थिति और जाम रोज की बात है।

यह दो पत्र सांसद ने लिखे थे

1-पहला पत्र: एसकेवी और एलआइसी वाय टाइप इंटरसेक्शन पर पीक आवर्स में ट्रैफिक का दवाब रहता है,जाम होता है। इस समस्या का हल इस मार्ग का चौड़ीकरण सामने आया। इसमें एलआइसी के सामने वाली खुली भूमि व एसकेवी के पास बने गेट के साथ लगी भूमि को सड़क में मिलाकर चाैड़ीकरण किया जाकर फोर लेन में परिवर्तित की जा सकती है। विभागों ने प्लान तैयार कर भेजा भी है। निगम के अनुसार एलआइसी के सामने वाली भूमि पर निर्माण की कोई अनुमति नहीं दी गई और वहां विवाद के चलते भवन अनुमति दी भी नहीं जा सकती,यहां जो भी निर्माण होगा वह अवैध होगा। रोड चौड़ीकरण का कार्य तत्काल प्रारंभ किया जाए।

2-दूसरा पत्र:

सांसद ने हाल के पत्र में पूर्व में भेजे गए पत्र का उल्लेख किया और लिखा कि यह अत्यंत खेद का विषय है कि छह माह से अधिक समय बीतने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। इतना ही नहीं अवैध निर्माण तक अभी तक चालू है। सारे शहर में यातायात सुग बनाने के लिए पुराने भवनों को हटाने की कार्रवाई चल रही है,ऐसे में यह एलआइसी के सामने खुली भूमि में अवैध निर्माण आश्चर्य का विषय है। इस अवैध निर्माण को तत्काल हटाने व रोड के चौड़ीकरण के लिए अावश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित करें।

कथन

एलआइसी तिराहा पर खुली भूमि में अवैध निर्माण को लेकर मैंने नगर निगम को कार्रवाई करने तोड़ने के लिए कहा था, यह अभी तक तोड़ा नहीं गया है,सबंधित अधिकारी से बात करेंगें क्यों नहीं तोड़ा गया।

कौशलेंद्र विक्रम सिंह,कलेक्टर

एलआइसी तिराहा पर अवैध निर्माण को रोक दिया गया था, निर्माण अभी भी नहीं रोका या कार्रवाई नहीं हुई, हम इसे दिखवा लेते हैं। पूर्व में यह मामला जानकारी में आया था।

किशोर कान्याल, आयुक्त, नगर निगम

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close