ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर में फेले डेंगू को लेकर दायर अवमानना याचिका की हाई कोर्ट की युगल पीठ ने सोमवार को सुनवाई की। निगम की ओर से पालन प्रतिवेदन रिपोर्ट देकर बताया कि वार्ड स्तर पर टास्क फोर्स बना दिए हैं। गली-मोहल्लों में दवा का छिड़काव व फागिंग की जा रही है। इसकी निगरानी भी की जा रही है। यह टास्क फार्स कलेक्टर के निर्देश पर बनाए गए थे। जिला प्रशासन की ओर से सोमवार पालन प्रतिवेदन रिपोर्ट पेश कर स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी दी। मरीजों के इलाज के लिए क्या-क्या व्यवस्थाएं की हैं, उसके बारे में भी बताया। कोर्ट ने स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट रिकार्ड पर लेते हुए अब प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की जानकारी मांगी है। इन केंद्रों पर दवाओं की उपलब्धता, डाक्टर, जांच, एंबूलेंस सहित अन्य स्टाफ के बारे में बताना होगा। याचिका की सुनवाई जनवरी के पहले सप्ताह में होगी। गाैरतलब है कि अधिवक्ता अवधेश सिंह भदौरिया ने हाई कोर्ट में अवमानना याचिका दायर की है। हाई कोर्ट ने शहर में फैले डेंगू पर सख्ती दिखाते हुए नगर निगम व प्रशासन को शहर सहित गांव में डेंगू को खत्म करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए थे। इस पर निगम की तरफ से पालन प्रतिवेदन रिपाेर्ट पेश की गई है।

कोर्ट ने सुनवाई के दौरान प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि इंदौर हाई कोर्ट में स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव ने हलफनामा पेश कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को आनलाइन (ई-सेवा) करने की बात की थी। यहां तक कहा गया था कि प्राथमिक केंद्र आनलाइन होने पर कोर्ट भी एमएलसी को आनलाइन देख सकते थे। आनलाइन करने का काम कहां तक पहुंचा है। सीएमएचओ ने कहा कि इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन जानकारी लेकर रिपोर्ट पेश की जाएगी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close