ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। फर्जी दिव्यांग कार्ड के मामले में सीएमएचओ कार्यालय के आपरेटर गुरुदयाल सिंह सहित दो लोगों को न्यायिक हिरासत में जेल भेजने के बाद जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने स्वास्थ्य अधिकारियों से पत्र लिखकर पूछा कि फर्जी दिव्यांग कार्ड कैसे पकड़ में आए। अगर विभाग ने इस संबंध में कोई जांच की है, तो उसकी जानकारी दी जाए। पुलिस ने दिव्यांग कार्ड कैसे बनता है, इसकी जानकारी अधिकारिक रूप से मांंगी है। पुलिस इस मामले में नामजद दो अन्य आरोपित की तलाश कर रही है। तीन फर्जी दिव्यांग कार्डों को विभागीय जांच में पकड़ा है।

कंपू थाना प्रभारी रामनरेश यादव ने बताया कि दोनों आरोपित को पकड़ने के लिए मुरैना पुलिस पार्टी भेजी गई थी। दोनों आरोपित घरों से गायब है। पुलिस उन्हें पकड़ने के लिए दबाव बना रही है। पुलिस को आशंका है कि स्वास्थ्य विभाग के एक-दो और कर्मचारी इस फर्जीवाड़े में लिप्त हो सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग को पत्र लिखकर इस मामले में कुछ बिंदुओं की जानकारी मांगी है।

58 साल का वृद्ध कट्टा लेकर घूम रहा था,पुलिस ने पकड़ाः सिरौल थाना पुलिस ने 58 साल के वृद्ध अभय पुत्र संजय लौधी निवासी गल्ला कोठार को शुक्रवार की रात को फुटी कालोनी के पास से पकड़ा है। पुलिस का दावा है कि आरोपित के पास से 315 बोर का कट्टा मिला है। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ अवैध शस्त्र अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस आरोपित से पूछताछ कर पता लगा रही है कि कट्टा कहां से लाया।

वीरमपुर गांव में विवाहिता से छेड़छाड़ः बिजौली थाना क्षेत्र में स्थित वीरमपुर गांव में शुक्रवार को 30 साल की विवाहिता के साथ होतम गुर्जर ने छेड़छाड़ कर दी। पीड़िता का आरोप है कि छेड़छाड़ का प्रतिरोध करने पर आरोपित ने उसका जतिगत रूप से अपमान किया। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपित के खिलाफ छेड़छाड़ का मामला दर्ज किया है। पुलिस आरोपित को तलाश करने के साथ छेड़छाड़ के मामले की जांच कर रही है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local