ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। निकाय चुनाव में नाम वापसी के बाद महापौर और पार्षद (पौर) पद के प्रत्याशियों की स्थिति साफ हो गई है। अब गुरुवार से चुनाव प्रचार ने भी जोर पकड़ लिया है। जिले में छह जुलाई को मतदान होना है, इससे दो दिन पहले प्रचार थम जाएगा। अब महापौर प्रत्याशियों के पास चुनाव प्रचार के लिए 11 दिन शेष बचे हैं। इस अवधि में प्रत्याशी का सभी वार्ड में मतदाताओं तक पहुंचना मुश्किल है।

ऐसे में भाजपा व कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने अपने-अपने पार्षद उम्मीदवारों को वार्डो में महापौर के लिए भी प्रचार की जिम्मेदारी दी है। इधर अधिकांश पार्षद प्रत्याशी सिर्फ अपना प्रचार कर रहे हैं, कई प्रत्याशियों के होर्डिग्स व पोस्टर तक से महापौर उम्मीदवार का फोटो नहीं है। वहीं महापौर उम्मीदवार जनसंपर्क करने के साथ सामाजिक बैठकों में व्यस्त हैं। भाजपा व कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए स्पष्ट दिशा निर्देश जारी किए हैं। जैसे-पार्षद उम्मीदवार अपने प्रचार साधनों पर महापौर उम्मीदवार का फोटो व नाम का उपयोग करेंगे। पार्षद जनसंपर्क के दौरान अपने-अपने वार्डो में महापौर के लिए भी वोट मागेंगे उनकी विशेषता मतदाताओं को बताएंगे। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी भाजपा के पार्षद उम्मीदवारों से सीधा संवाद करते हुए चुनावी मंत्र दिया था। उन्होंने पार्षद उम्मीदवारों से कहा था कि अपने होर्डिग्स व पर्चों पर महापौर के फोटो भी अपने बराबर के आकार में ही लगाएं। उसके अलावा जनसंपर्क के दौरान अपने साथ महापौर उम्मीदवार के परचे भी वितरित करें। यही दिशा निर्देश कांग्रेस ने भी अपने प्रत्याशियों को लिए तय किए हुए हैं।

पार्षदों के परचों पर नहीं महापौर उम्मीदवार का नामः वार्ड 45 के कांग्रेस उम्मीदवार के परचों से महापौर उम्मीदवार का नाम-फोटो नहीं छापा गया है। केवल क्षेत्रीय विधायक प्रवीण पाठक के फोटो के साथ पार्षद उम्मीदवार का फोटो है। इसी तरह वार्ड 22 में भाजपा के पार्षद पद के प्रत्याशी द्वारा जनसंपर्क के दौरान महापौर के लिए वोट नहीं मांगे जा रहे। दोनों पार्षदों से संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन चुनाव प्रचार में व्यस्त होने के कारण उनसे बात नहीं हो सकी।

वर्जन-

भाजपा का हर कार्यकर्ता चुनाव प्रचार कर रहा है। साथ ही पार्टी के निर्देशानुसार पार्षद प्रत्याशी भी महापौर उम्मीदवार का भी प्रचार कर रहे हैं। महापौर उम्मीदवार भी पार्षद उम्मीदवारों को साथ लेकर जनसंपर्क कर रही हैं। महापौर का प्रचार न करने संबंधी कोई शिकायत अभी तक नहीं मिली है।

कमल माखीजानी, जिलाध्यक्ष, भाजपा

वर्जन-

नगर निगम चुनावों में इस बार सभी पार्षद पद के प्रत्याशी अपने साथ-साथ महापौर उम्मीदवार का भी प्रचार करने करेंगे। इस संबंधी में पार्टी द्वारा दिशा निर्देश जारी किए जा चुके हैं। महापौर उम्मीदवार भी हर वार्ड में जनसंपर्क कर रहीं हैं। प्रचार अभियान चुनाव आयोग व पार्टी के निर्धारित दिशानिर्देश के तहत जारी है।

डा. देवेंद्र शर्मा, जिलाध्यक्ष, शहर जिला कांग्रेस

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close