ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नववर्ष में पुलिस के सामने धोखाधड़ी व ठगी के मामले बड़ी चुनौती बनकर सामने आए हैं। शहर में फायरिंग व लूट की वारदातों की बजाये बीते 10 दिन में धोखाधड़ी के प्रकरण सबसे अधिक दर्ज हुए हैं। शुरुआत 70 करोड़ के हुंडी कांड से हुई। इसके बाद मुरार के तीन भाइयों द्वारा 40 से अधिक व्यापारियों से करीब एक करोड़ रुपये उधार लेकर हड़पने का मामला सामने आया। वहीं सिरौल तिराहे पर कथित कंपनी के संचालक क्षेत्र की महिलाओं को रोजगार देने के नाम पर सुरक्षा निधि जमा कराकर गायब हो गए। इसके अलावा जमीन संबंधी ठगी के दो मामले व तीन मामले आनलाइन ठगी के भी दर्ज हुए हैं। शहर में जमीन संबंधी धोखाधड़ी के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। पुलिस का रोमनामचा एक जनवरी से बदलता है, और नये सिरे से अपराधों की गिनती शुरू होती है।

काेरोना की तीसरी लहर की दहशत के बीच नववर्ष 2022 के पहले 10 दिन में दर्ज हुए प्रकरण संकेत दे रहे हैं कि शहर में धोखाधड़ी की वारदातें बढ़ रही हैं। इससे पहले शहर में सबसे अधिक वारदातें फायरिंग, हत्या व चोरी की होती थीं। बीते 10 दिन में गोली चलने की दो वारदातें और चोरी की एक बड़ी वारदात हुई है। मोबाइल व लूट के दो मामले भी दर्ज हुए हैं। वाहन चोरी की घटनाओं पर भी अंकुश नहीं लगा है। इससे साफ है पुलिस के सामने इन अपराधों के साथ बदले ट्रेंड के अपराधों पर अंकुश लगाना बड़ी चुनौती होगी। इस मामले में सेवानिवृत्त डीएसपी सुरेंद्र सिंह परमार का कहना है आर्थिक अपराध प्रदेश के सभी महानगरों में बढ़ रहे हैं। रंगदारी, गैंगवार, हत्या व लूट जैसी वारदातों पर पिछले साल भी अंकुश रहा। संगठित अपराधों में कमी आने की मुख्य वजह गैंगस्टर्स का जेलों में होना है। जो बाहर हैं, वे जमीनों के काम से जुड़ गए हैं। जमीन संबंधी धोखाधड़ी के मामले बढ़ने का मूल कारण जिले में जमीनों के बढ़े रेट हैं, इसलिए जमीन संबंधी व लेन-देन संबंधी धोखाधड़ी के प्रकरण बढ़े हैं।

70 करोड़ का हुंडी कांड़ः निये साल की शुरुआत 70 करोड़ के हुंडी कांड से हुई। इसमें शहर के प्रमुख व्यापारियों को फर्जी हुंडी थमाकर व्यापारियों से करोड़ों रुपये लेकर आशीष गुप्ता उर्फ आशु ने क्रिकेट मैच के सट्टे पर लगा दिए। पुलिस ने मुख्य आरोपित को पकड़ लिया है। इंडोनेशिया से लोंग मंगवाने के नाम पर बहादुरा हलवाई के संचालक अंबिका प्रसाद को भी पौने तीन करोड़ की चपत हुंडी दलाल आशु ने लगाई है।

तीन भाइयों ने 1 करोड़ ठगेः मुरार में मोबाइल व वीडियो के कारोबारी तीन भाइयों मनोज कुमार जैन, पप्पी जैन व गुड्डू जैन ने क्षेत्र के 40 से अधिक व्यापारियों से एक करोड़ रुपये उधार लिए थे। अब वे व्यापारियों द्वारा पैसे वापस मांगने पर उनको धमका रहे हैं। मुरार थाने में प्रकरण दर्ज होने के बाद तीनों भाई भूमिगत हो गए हैं। पुलिस तीनों आरोपित भाइयों की तलाश कर रही है।

महिलाओं से की ठगीः सिरौल में संचालित एक कंपनी ने महिलाओं को घर बैठे पांच से सात हजार रुपये महीना कमाने का सपना दिखाया। साथ ही सुरक्षा निधि के नाम पर 1500-1500 रुपये जमा कराए। दो माह तक कच्चा माल देकर माला बनवाईं, लेकिन जब भुगतान का समय आया तो कंपनी के कर्ताधर्ता गायब हो गए। इस मामले में सिरौल थाना में रोहित नाम के युवक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है।

वर्जन-

पिछले 10 दिन में जिले में कोई संगीन वारदात नहीं हुई है। लूट व बड़ी चोरियों पर अंकुश लगा है। धोखाधड़ी के मामले आपसी लेन-देन संबंधी होते हैं। इनकी पड़ताल पूरी गंभीरता से की जाती है। फर्जी हुंडी के मुख्य आरोपित को पुलिस पकड़ लाई है। आनलाइन ठगी के मामलों की जांच के लिए क्राइम ब्रांच के अंतर्गत साइबर सेल की टीम काम कर रही है।

अमित सांघी, एसपी ग्वालियर

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local