ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। वर्तमान में शहर सहित आसपास क्षेत्रों में भीषण गर्मी पड़ रही है। तापमान 46 डिग्री से उपर जा रहा है। ऐसे में गर्मी की वजह से कई बीमारियां हों सकती हैं। ऐसे में कई बीमारियों को हम अपने डाइट प्लान को बदलकर या उसमें ऐसी खाने पीने की चीजों को जोड़कर दूर कर सकते हैं और गर्मी से निजात पा सकते हैं। गर्मियों में छांछ का सेवन आपको न केवल गर्मी से निजात दिला सकता है, बल्कि विभिन्न बीमारियों को दूर करने में भी मदद करता है। गर्मी के मौसम में ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है। कई तरह के पेय कार्बोनेटेड पानी, शीतल पेय आदि होने के साथ स्वस्थ और पौष्टिक भी होने चाहिए। इस मौसम में सबसे प्रसिद्ध ग्रीष्मकालीन पेय में से एक है छाछ। छाछ का सेवन सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद तो होता ही है ये स्वाद में भी लाजवाब होता है। गर्मियों के मौसम में छाछ व्यापक रूप से पसंद किया जाता है और लोग इसे अपनी डाइट में मुख्य रूप से शामिल करते हैं। आर्युवेदाचार्य डा शिवानी सिंह ने छाछ के लाभ कुछ इस तरह बताए हैं।

इस तरह फायदा पहुंचाती है छांछ

- नियमित छाछ का सेवन करने से वजन घटाने में मदद मिलती है। छाछ में कैलोरी और फैट की मात्रा बहुत कम होती है। यह एक तरह से फैट बर्नर का काम करता है। भरपूर मात्रा में कैल्शियम होने के कारण छाछ हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करती है।

- खाली पेट इसका सेवन करने से यह पाचन में सहायता करती है, चयापचय में सुधार करती है और इस भीषण गर्मी के मौसम में शरीर को ठंडा रखती है। अगर आपके पेट में दर्द या एसिडिटी की समस्या हो तो छाछ को खाली पेट पीने से इस समस्या से जल्द ही निजात पाया जा सकता है। यह पेट की जलन को कम करने में भी मदद करता है।

- गर्मियों के मौसम में डिहाइड्रेशन की समस्या एक आम समस्या है। लेकिन खाली पेट छाछ पीने से जहां एक तरफ डिहाइड्रेशन से छुटकारा मिलता है वहीं इस ड्रिंक में थोड़े किचन के मसाले जैसे अजवाइन और काला नमक मिलाकर पीने से पाचन भी दुरुस्त होता है।

- कैल्शियम और प्रोटीन जैसे पोषक तत्वों से भरपूर छाछ का सेवन शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। इसका खाली पेट सेवन करने से शरीर को लम्बे समय तक ऊर्जावान बनाए रखने में मदद मिलती है।

- दस्त की समस्या में खाली पेट एक कप छाछ लें और उसमें आधा चम्मच अदरक का चूर्ण मिलाकर इसके स्वाद को बढ़ाएं। इसका सेवन दिन में कई बार किया जा सकता है जिससे दस्त की वजह से शरीर में होने वाली पानी की कमी को भी पूरा किया जा सकता है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local