ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सुबह उठकर मुंह धोने से लेकर नाश्ता करने, दोपहर का खाना, शाम की हाइ टी से लेकर डिनर तैयार करने में उपयोग होने वाली सभी वस्तुओं की कीमतें पिछले एक माह में बढ़ी हैं। दो जून की रोटी बनाने इस्तेमाल होने वाले आटे की कीमतें भी 12 साल के सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गई हैं। वर्तमान में सामान्य लोकमन गेहूं से बने आटे की कीमतें 28 से 30 रुपए प्रति किलो पहुंच गई हैं। खाना बनाने में उपयोग होने वाले सोयाबीन तेल से लेकर सरसों के तेल तक की कीमतें आसमान छू रही हैं। इसके अलावा टूथपेस्ट से लेकर नहाने के साबुन की कीमत 27 प्रतिशत से 55 प्रतिशत तक बढ़ी हैं।

समाज के हर वर्ग की कमर पर महंगाई का बोझ बढ़ गया है। सरकार भले ही पेट्रोल-डीजल की कीमत कम कर जनता को कुछ राहत देने के प्रयास कर रही है, लेकिन मुनाफाखोरी के चलते लोगों तक इसके फायदे नहीं पहुंच पा रहे हैं। वर्तमान में फल-सब्जी के अलावा आटा और दूध के दाम रिकार्ड तोड़ रहे हैं। इसके अलावा फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (एफएमसीजी) कंपनियां भी चालाकी दिखाते हुए कुछ प्रोडक्ट्स के दाम बढ़ा रही हैं, तो सस्ती कीमत के कुछ प्रोडक्ट्स के दाम बढ़ाने के बजाय उनके वजन में कटौती कर रही हैं। 10 से 20 रुपए की तय कीमतों में आने वाली खाद्य सामग्रियों के रेट बढ़ाने के बजाय कंपनियों ने इनके वजन में कमी कर दी है। बेहतर सेहत का हवाला देकर लोग सफेद के बजाय ब्राउन ब्रेड का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में कंपनियों ने इसकी कीमतें भी 12 प्रतिशत बढ़ा दी हैं। 40 रुपए का ब्रेड का पैकेट अब 45 रुपए का हो गया है। इसके पीछे एफएमसीजी कंपनियां बाहर से आयात होने वाले कच्चे माल की कीमतें बढ़ने का हवाला दे रही हैं।

-ऐसे बढ़ाए कंपनियों ने दाम-

प्रोडक्ट एक माह पहले कीमत वर्तमान कीमत

मैगी 12 व 24 रुपए प्रति पैकेट 14 व 28 रुपए प्रति पैकेट

नंबर वन साबुन 85 रुपए प्रति पांच साबुन 130 रुपए प्रति पांच साबुन

पीयर्स 125 रुपए प्रति चार साबुन 152 रुपए प्रति चार साबुन

पीयर्स 164 रुपए प्रति चार साबुन 220 रुपए प्रति चार साबुन

घड़ी वाशिंग पाउडर 55 रुपए प्रति किलो 67 रुपए प्रति किलो

एमडीएच गरम मसाला 78 रुपए प्रति 100 ग्राम 92 रुपए प्रति 100 ग्राम

सरसों तेल 140-150 रुपए प्रति लीटर 160 से 165 रुपए प्रति लीटर

महाकोष सोयाबीन तेल 145 रुपए प्रति लीटर 160 रुपए प्रति लीटर

ब्राउन ब्रेड 40 रुपए प्रति पैकेट 45 रुपए प्रति पैकेट

-भूसा महंगा, तो दूध के बढ़े रेट-

वर्तमान में सांची के फुल क्रीम दूध के रेट 58 रुपए और स्टैंडर्ड दूध के रेट 54 रुपए प्रति लीटर चल रहे हैं। दूसरी तरफ खुले बाजार में मौजूद डेयरियों में दूध 50 से 55 रुपए प्रति लीटर हो गया है, जो गत अप्रैल माह तक 40 से 45 रुपए प्रति लीटर था। इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि गाय-भैंस को खिलाने में उपयोग होने वाला भूसे तक की कीमतें 300 रुपए के बजाय 1200 रुपए प्रति क्विंटल हो गई हैं। इस कारण से दूध के रेट बढ़ गए हैं। दूसरी ओर आगामी मानसून के सीजन में फिर से कीमतें दो रुपए प्रति लीटर तक बढ़ने की संभावनाएं हैं।

-इनके दाम नहीं बढ़े, तो घटाया वजन-

वर्षों से मध्यमवर्गीय परिवारों द्वारा सुबह नाश्ते में खाया जाने वाला पारले-जी बिस्कुट अब पांच रुपए में 64 के बजाय 55 ग्राम हो गया है। कोलगेट टूथपेस्ट का वजन सात रुपए में 25 ग्राम के बजाय 18 ग्राम रह गया है। इसी प्रकार बालों में लगाए जाने वाला तेल 20 रुपए में 250 के बजाय सिर्फ 225 ग्राम रह गया है। 10 रुपए वाले कपड़े धोने के साबुन की टिकिया भी छोटी कर दी गई है।

-गेहूं-आटा दोनों बराबर-

वर्तमान में बाजार में सामान्य लोकमन गेहूं की कीमत 25 रुपए प्रति किलो है। यदि व्यक्ति बाजार से एक किलो गेहूं खरीदता है और उसे छान-फटकने के बाद पिसवाने के लिए चक्की पर जाता है, तो वहां तीन रुपए प्रति किलो के हिसाब से पिसाई ली जा रही है। ऐसे में पिसवाकर आटा 28 रुपए किलो पड़ता है। इसमें छानने-फटकने और पिसवाने जाने की मेहनत अलग है। दूसरी तरफ बाजार में 28 रुपए प्रति किलो में पिसा हुआ आटा मिल रहा है। ऐसे में गेहूं और आटा अब बराबर हो गया है। लोग अब गेहूं के बजाय सीधे आटा खरीदना पसंद कर रहे हैं।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close