Innocent murder in Gwalior: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिस 9 साल की बच्ची के साथ बेरहमी से दुष्कर्म कर हत्या कर दी गई, उसकी मासूम हथेलियां उसका दर्द बयां कर रही थीं। हथेलियों के अंदर भींची हुई अंगुलियां, उनमें फंसे आरोपित के बाल और नाखूनों में लगा खून- यह सबूत है हैवानियत का, उसके दर्द का। यह हालात बता रहे हैं, वह दर्द से झटपटा रही थी, खुद को हैवान से बचाने के लिए संघर्ष करती रही, लेकिन उसका दिल नहीं पसीजा। हालात बता रहे हैं कि जब मासूम बच्ची खुद को बचाने संघर्ष करने लगी, तब आरोपित ने उसे मार डाला।

जिसने बच्ची की यह हालत देखी, उसकी आंख से आंसू निकल पड़े। पिता लाश देखकर बेहोश हो गए। रात भर से पुलिस बच्ची की तलाश कर रही थी। मंगलवार सुबह जब उसकी लाश मिली तब फोरेंसिक एक्सपर्ट डा.अखिलेश भार्गव को बुलवाया गया। फिंगर प्रिंट टीम भी पहुंची। जब यहां फोरेंसिक टीम ने पड़ताल की तो बच्ची की हथेलियों के बीच आरोपित के बाल मिल गए, यह बाल अंगुलियों के बीच फंसे हुए थे। उसके दो अंगुलियों के नाखून में खून लगा था। यह हालात देखकर पुलिस अफसरों का अनुमान है कि बच्ची जब खुद को बचाने के लिए झटपटाई होगी तो उसने संघर्ष भी किया होगा। मोतियों की माला भी टूटी पड़ी थी, लाश के पास मोती बिखरे पड़े थे। बच्ची का मुंह और सिर बुरी तरह कुचला हुआ था, हत्या हुए 36 घंटे से अधिक का समय हो चुका था, इसलिए लाश सड़ने लगी थी। पिता और दादा ने जैसे ही शव देखा तो फफक-फफक कर रो पड़े। पुलिस अफसरों ने इन्हें संभाला और सांत्वना दी कि हैवानियत करने वाले आरोपित को कड़ी से कड़ी सजा दिलाएंगे।

अब यही बाल और नाखून बनेंगे सबूत, यही दिलाएंगे सजा: जो बाल और नाखून में मिला खून है, वही साक्ष्य बनेंगे। यही आरोपित को सजा दिलाएंगे। पुलिस अफसरों का कहना है कि इनसे आरोपित के पकड़ने के बाद डीएनए टेस्ट कराया जाएगा, जिससे आरोपित किसी भी स्थिति में बच नहीं सकता।

साथ में खेल रही थी परी, बाबा बोले- आइसक्रीम दिलाएंगेः मैं और परी साथ में मंदिर के पास खेल रहे थे। मोहल्ले के और भी बच्चे यहां पर खेल रहे थे, तभी कल्लू बाबा आए, कुछ देर बैठे रहे, हमें देखते रहे। फिर बोलने लगे चलो आइसक्रीम दिलाऊंगा। मैंने मना कर दिया, लेकिन परी परिवर्तित नाम साथ में चली गई। मैं उसे रोकता रहा, लेकिन बाबा यहां आकर चीज दिलाते थे तो परी हाथ पकड़कर चली गई। मैं यहीं पर खेलता रहा, लेकिन परी लौटकर नहीं आई। मैं दूर तक देखने गया, लेकिन दिखी नहीं। मैं घर चला गया। तब मम्मी ने पूछा तो बताया, वो बाबा के साथ गई है। बाबा जब भी आते थे, परी को गोद में बैठा लेते थे। वो गंदी बात भी करते थे।

(नाेटः जैसा कि बच्ची के साथ खेल रहे, उसके भाई ने पुलिस को बताया)

उठी मांग-आरोपित को फांसी दोः इस घटना के चलते पूरा शहर गुस्से में है। इंटरनेट मीडिया से लेकर जगह-जगह आरोपित को फांसी दिए जाने की मांग उठ रही है। इंटरनेट मीडिया पर जब इस घटना के बारे में सूचना चली तो लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। मासूम बच्ची के आसपास रहने वाले लोग भी आरोपित को फांसी दिए जाने की मांग करने लगे।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close