ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। बदनापुरा में मिली दूसरी किशोरी की उम्र को लेकर पड़ताल जारी है। कलकत्ता की किशोरी के फर्जी जन्म प्रमाण पत्र मिलने के बाद इस मामले में एफआइआर दर्ज कर बिट्टू धनावत को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि अभी दूसरी किशोरी को साथ रखने वाले युवक पर कार्रवाई को लेकर अभी पुलिस असमंजस में है, क्योंकि उसकी उम्र से संबंधित दो दस्तावेज मिले हैं। उधर महिला बाल विकास विभाग जल्द ही बदनापुरा और रेशमपुरा में हर एक घर का सर्वे शुरू करेगा। जिससे यह पता लग सके कि किस घर में कितने लोग हैं, इससे अंजान सदस्य की पहचान करना आसान होगी। इन सभी के दस्तावेजों की छायाप्रति भी रिकार्ड में रखी जाएगी।

मानव तस्करी और देह व्यापार के लिए बदनाम हो चुके ग्वालियर के बदनापुरा गांव में रविवार और मंगलवार को ग्वालियर पुलिस ने दबिश देकर पांच किशोरियों को बरामद किया। चार किशोरियों को अपने घर रखने वाले तीन लोगों पर एफआइआर दर्ज हो चुकी है। पांचवी युवती से जब पूछताछ की गई तो पहले वह खुद को बिहार का रहने वाला बता रही थी। फिर पता लगा कि वह बदनापुरा की ही रहने वाली है। लेकिन उसकी उम्र को लेकर अभी भी गफलत है, क्योंकि उसकी उम्र से जुड़े दो दस्तावेज मिले हैं। आशंका है, यह भी फर्जी हैं। इसकी जांच कराई जा रही है। क्राइम ब्रांच के डीएसपी ऋषिकेष मीणा ने बताया कि कलकत्ता की किशोरी से बिट्टू धनावत ने शादी की थी, इसके चलते उस पर एफआइआर दर्ज कर ली गई है। पुरानी छावनी थाने में उस पर एफआइआर दर्ज की गई है, उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है। जैसे ही दूसरी किशोरी की उम्र के बारे में स्थिति स्पष्ट होगी, वैसे ही इस मामले में भी कार्रवाई की जाएगी।

पूछताछ में अलग-अलग राज्यों की महिला तस्करों के नाम पता लगे: पकड़े गए आरोपितों से मानव तस्करी गैंग की उन महिला सदस्यों के बारे में इनपुट मिला है, जो अलग-अलग राज्यों में रहकर इस पूरे नेटवर्क को आपरेट करती हैं। यह महिलाएं स्टेशन, मंदिर और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर उन बच्चियों पर निगाह रखती हैं जो अनाथ होती हैं। इन्हें बहला फुसलाकर ले आती हैं और इनकी खरीद-फरोख्त कर दी जाती है।

पहले जबरन शादी, फिर कराया जाता है देह व्यापार: पड़ताल में यह भी सामने आया है कि ऐसी बच्चियों की पहले जबरन शादी करा दी जाती है। फिर इन्हें देह व्यापार के दलदल में धकेल दिया जाता है। यहां से सबसे ज्यादा बालिकाएं नागपुर और मुंबई व अन्य बड़े शहरों में भेजी जाती हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close