Janmashtami 2020 : ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। जन्माष्टमी पर सिंधिया राजपरिवार द्वारा बनवाए गए गोपाल मंदिर में राधाकृष्ण का करोड़ों रुपए के जेवरात से श्रृंगार किया गया। श्रृंगार के लिए बुधवार की सुबह बैंक के लॉकर से पुलिस सुरक्षा के बीच नगर निगम अधिकारियों ने निकालें। इसके बाद इन सभी जेवरात से भगवान का श्रृंगार किया गया।

इन जेवरातों से होता है भगवान का श्रृंगार

राधा-कृष्ण का श्रृंगार करोड़ों रुपए के जेवरात से किया जाता है। इनमें सफेद मोती वाला पंचगढ़ी हार जिसकी कीमत वर्ष 2007 में आठ लाख रुपए आंकी गई थी। इसी प्रकार सात लड़ी का हार जिसमें 62 असली मोती और 55 पन्ने जड़े हुए हैं। इसकी कीमत लगभग 20 से 25 लाख रुपए आंकी गई थी। इसी प्रकार सोने के तोड़े, सोने का मुकुट कृष्ण भगवान पहनाए गए हैं, जिनकी कीमत 80 लाख रुपए थीं। गोपाल मंदिर में राधाजी का ऐतिहासिक मुकुट है, जिसमें पुखराज और माणिक जणित पंख है तथा बीच में पन्ना लगा हुआ है।

तीन किलो कीमत के इस मुकुट की कीमत 2007 में पांच करोड़ रुपए आंकी गई थी। इसके साथ ही 16 ग्राम पन्ने की कीमत 25 लाख। राधाकृष्ण की नकसिक श्रृंगार के लिए 25 लाख रुपए के जेवरात हैं। जिसमें श्रीजी तथा राधा के झुमके, सोने की नथ, कंठी, चूडियां, कड़े इत्यादि से भगवान को सजाया गया है। भगवान के भोजन आदि के लिए प्राचीन बर्तनों की सफाई कर भगवान का भोग लगाया जाएगा, जिनकी कीमत 80 लाख रुपए है। इनमें भगवान की समई, इत्रदान, पिचकारी, धूपदान, चलनी, सांकडी, छत्र, मुकुट, गिलास, कटोरी, कुंभकरिणी, निरंजनी आदि सामग्री हैं।

साल में एक दिन ही होता है श्रृंगार

गोपाल मंदिर में भगवान का श्रृंगार सिर्फ श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के दिन ही किया जाता है। इसके बाद इन सभी जेवरात को पुलिस सुरक्षा के बीच बैंक के लॉकर में सुरक्षित रखवा दिया जाता है।

सिंधिया राजपरिवार ने कराया था गोपाल मंदिर का निर्माण

गोपाल मंदिर का निर्माण सिंधिया राज परिवार ने फूलबाग परिसर में कराया था। इस मंदिर के साथ ही यहां पर गुरुद्वारा, मोती मस्जिद, चर्च का भी निर्माण हुआ था।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020