ग्वालियर (नईदुनिया रिपोर्टर)। लॉकडाउन ने लर्निंग प्रोसेस में बदलाव लाते हुए सीखने और सिखाने का तरीका बदल दिया है। अब ई-लर्निंग बढ़ रही है और कॉलेज व स्कूल ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर आ गए हैं। भारत सरकार के पोर्टल स्ट्डी वेब्स ऑफ एक्टिव-लर्निंग फॉर यंग एस्पाइरिंग माइंड्स (स्वयं) द्वारा 2800 से ज्यादा ऑनलाइन कोर्सेस ऑफर किए जाते हैं, जो पूरी तरह से फ्री हैं। ये कोर्स ऑफर करने वालों में आईआईएम, आईआईटी, बीएचयू, इग्नू जैसे देश के नामी संस्थान शामिल हैं। हाल ही में प्लेटफॉर्म क्लास सेंट्रल ने दुनिया के टॉप ऑनलाइन कोर्सेस की लिस्ट जारी की, जिनमें स्वयं के 6 कोर्स भी शामिल हैं। इन कोर्सेस में अभी भी रजिस्ट्रेशन जारी है, इनसे जुड़कर स्टूडेंट अपनी स्किल को बेहतर कर सकते हैं।

लॉकडाउन में 5 गुना बढ़ी स्टूडेंट्स की भागीदारी

लॉकडाउन में स्वयं पोर्टल पर स्टूडेंट्स की भागीदारी 5 गुना बढ़ गई है। जिसकी पुष्टि मानव संसाधन मंत्रालय ने की है। मार्च के अंतिम सप्ताह में जहां पर स्वयं पर 50 हजार स्ट्राइक्स थे, वहीं अप्रैल में यह बढ़कर 2.5 लाख हो गए। स्वयं द्वारा 2867 ऑनलाइन कोर्स ऑफर किए जाते हैं, इनमें 1.25 करोड़ स्टूडेंट्स व टीचर्स ने एन्रॉलमेंट कराया है। स्वयं 9वीं से लेकर पोस्ट ग्रेएजुएट लेवल तक के लिए कोर्स ऑफर कर रहा है।

स्टूडेंट इस तरह करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

स्वयं पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। यहां पर माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट, गूगल या फिर फेसबुक के जरिए रजिस्टर किया जा सकता है। इसके बाद स्टूडेंट को अपनी पर्सनल डिटेल्स के साथ एजुकेशनल क्वालिफिकेशन डालनी होती है। फिर कोर्स के अनुसार रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

ये हैं टॉप 30 में शामिल हुए स्वयं के 6 कोर्स

1-पायथॉन फॉर डेटा साइंस

अवधिः 4 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 27 जुलाई

परीक्षाः 27 सितंबर 2020

आवेदनः 4599

यह एआईसीटीई एप्रूव्ड एक एफडीपी बेस्ड कोर्स है, जो आईआईटी मद्रास ने ऑफर किया है। इसके जरिए पार्टिसिपेंट पायथॉन प्रोग्रामिंग से डेटा साइंस प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने की स्किल सीखते हैं। यह मुख्य रूप से फाइनल ईयर अंडर ग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए है। स्वयं पर इसके हर हफ्ते की लर्निंग के बारे में जानकारी दी गई है। इस कोर्स के बाद ई-सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा।

2-डिजिटल मार्केटिंग

अवधिः 15 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 31 अगस्त

परीक्षाः 15 नवंबर 2020

आवेदनः 510

यह पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के लिए उपलब्ध कोर्स है, जो पंजाब यूनिवर्सिटी ने ऑफर किया है। इंटरनेट और मोबाइल फोन के यूजर्स में पिछले दो दशकों में बहुत तेजी से इजाफा हुआ है। इसके साथ ही यह प्लेटफॉर्म मार्केटिंग का भी प्रमुख टूल बन गया है। यह कोर्स स्टूडेंट्स को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर मार्केटिंग के गुर सिखाता है। कोर्स को करने के लिए हार्डकोर टेक्नीकल नॉलेज होना जरूरी नहीं है।

3-एनीमेशंस

अवधिः 15 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 31 अगस्त

परीक्षाः 15 नवंबर 2020

आवेदनः 1168

यह कोर्स बीएसयू ने ऑफर किया है। इसमें क्रिएटिव डेवलप करने के लिए डिजाइन हिस्ट्री और थ्योरीज के साथ एनीमेशन फिल्म प्रॉडक्शन से संबंधित टेक्नीकल व एनालिटिकल स्किल सिखाई जाएंगी। इसके बाद स्टूडेंट्स फिल्म, वेब, मोशन कैप्चर, गेम डिजाइन आदि क्षेत्र में विजुअल इफेक्ट व एनीमेशन का कॅरियर बना सकते हैं। इसमें पॉली इंजीनियरिंग, पॉली-पेंटिंग, लाइटिंग टेक्नीक, कैरेक्टर स्किनिंग व ब्लेंड शेप्स, एनीमेशन फंडामेंटल्स, कैरेक्टर सेटअप आदि सिखाया जाएगा।

4-एकेडमिक राइटिंग

अवधिः 15 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 31 अगस्त

परीक्षाः 14 नवंबर

आवेदनः 625

यह स्वयं पोर्टल ने खुद ही पेश किया है, जो काफी लोकप्रिय है। 85 से अधिक देशों के 20 हजार से अधिक प्रतिभागी इस कोर्स का लाभ ले चुके हैं। इस कोर्स के दो साइकल सफलता पूर्वक पूरे किए जा चुके हैं। यह कोर्स रिसर्च और एकेडमिक्स में कॅरियर बनाने वालों के लिए फायदेमंद है। अभी तक नॉलेज डोमेन में ऐसा कोई कोर्स नहीं था जो एकेडमिक राइटिंग सिखाए। इसके जरिए एकेडमिक और रिसर्च के पेपर्स को बेहतर तरीके से लिखा जा सकता है।

5-मैथेमेटिकल ईकोनॉमिक्स

अवधिः 15 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 31 अगस्त

परीक्षाः 15 नवंबर 2020

आवेदनः 202

यह कोर्स मैथेमेटिक्स के जरिए इकोनॉमिक्स को आसान बनाने के लिए डिजाइन किया गया है। इकोनॉमिक्स के अलावा यह कोर्स इंजीनियरिंग, आर्किटेक्चर, मेडिसिन, फाइनेंस, मैनेजमेंट, पॉलिसी मेकिंग और एनालिटिक्स में प्रॉब्लम सॉल्विंग के लिए कारगार है। इसमें रीयल टाइम उदाहरण और हाल ही के रिसर्च व न्यूज को इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही इसके मल्टीपल च्वॉइस क्वेश्चन खुद को ग्रेड करने में मदद करेंगे। यह पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के लिए है।

6-अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन

अवधिः 15 सप्ताह

आवेदन की अंतिम तिथिः 31 अगस्त

परीक्षाः 15 नवंबर 2020

आवेदनः 415

बच्चे के जीवन के शुरुआती 6 साल बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। इस दौरान वह बहुत ज्यादा तेजी से सीखता है। वह अपने आसपास के वातावरण से जो अनुभव लेता है उससे उसके दिमाम में सूत्रयुग्मक (सिनैप्टिक) कनेक्शन बनते हैं। यहां महत्वपूर्ण है कि बच्चे के लिए उपलब्ध वातावरण बहुत संपन्न होना चाहिए जिससे उसकी नींव मजबूत हो। इस कोर्स में प्रतिभागीु को ह्‌यूमन डेवलपमेंट, साइकोलॉजी, सोशियोलॉजी, न्यूरोसाइंस व मेडिसन के जरिए इस स्टेज को बेहतर बनाने के बारे में सिखाया जाता है। यह कोर्स टीचर्स एजुकेशन कैटेगरी का है जो पोस्टग्रेजुएट लेवल के लिए है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना