राकेश वर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। लाल टिपारा स्थित गाेशाला में 4 से 11 दिसंबर तक श्रीमद भागवत कथा ज्ञानयज्ञ का आयाेजन किया जा रहा है। इसकी कलश यात्रा आज धूमधाम से निकाली गई। जिसमें बैंडबाजाें के साथ भजनाें पर थिरकते हुए भक्त भागवत कथा स्थल तक पहुंचे। इस दाैरान जगह-जगह कलश यात्रा का जाेरदार स्वागत भी किया गया।

श्रीकृष्णानायन संत समिति हरिद्वार के मार्गदर्शन में श्रीमद् भागवत कथा का वाचन ब्रह्मचारी प्रेमानंद महाराज के मुखारविंद से होगा। श्रीमद् भागवत कथा के लिए कलश यात्रा शनिवार सुबह 11 बजे गाजे-बाजे के साथ रघुनाथ मंदिर सूरी नगर एसएलपी कालेज के सामने से प्रारंभ हुई। कलश यात्रा मुरार के विभिन्न चाैराहाें से हाेते हुए लाल टिपारा आदर्श गाेशाला मुरार पहुंची। कलश यात्रा में महिलाएं सिर पर कलश लेकर पीतांबर वस्त्र धारण कर कलश यात्रा में शामिल हुईं। कलश यात्रा का जगह-जगह पर भक्तों ने पुष्पों की वर्षा कर स्वागत किया। भागवत कथा का रसपान दोपहर 12 बजे से 5 बजे तक किया जाएगा। शनिवार को प्रथम दिन की कथा में भागवत महत्व ज्ञान भक्ति वैराग्य एवं गोकर्ण की कथा का रसपान कराया गया।

जगह-जगह हुआ स्वागतः कलश यात्रा में बग्गी के साथ ही बैंडबाजे भी शामिल थे। महिलाएं कलश सिर पर धारण करके चल रही थी, जबकि पुरूष बैंडबाजाें पर गूंजती भजनाें की धून पर आगे-आगे थिरकते हुए चल रहे थे। कलश यात्रा मुरार के जिस भी चाैक चाैराहे से गुजरी वहां पर लाेगाें ने फूल मालाओं से जाेरदार स्वागत किया। गाैरतलब है कि लाल टिपारा स्थित गाेशाला में हाे रहे कार्याें काे प्रदेश स्तर पर भी सराहा गया है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local