अगर इस शहर का नाम वीरांगना के नाम होता है तो अच्छी बात है

Laxmibai ballidan Fair 2021:ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। गुना-शिवपुरी सांसद केपी यादव की बलिदान मेला के मंच पर मौजूदगी के राजनीतिक मायने निकले जा रहे हैं। केपी यादव ने बलिदानस्थल पर मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि पवित्र भूमि हैं। यहां नमन करने के लिए राष्ट्रभक्त को आना चाहिए। उनका इशारा साफ था, लेकिन उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया। केपी यादव ने कहा कि अगर जनमत की इच्छा है कि इस शहर का नाम वीरांगना के नाम पर हो तो उसका सम्मान किया जाना है। अगर किसी शहर का नाम वीरांगना के नाम पर होता है तो मुझे भी अच्छा लगेगा। वीरांगना की शहदत के इतिहास पर उन्होंने चर्चा करने से इंकाार कर दिया। उ्रनका कहना था कि यह बलिदान दिवस हैं, यहां राजनीतिक चर्चा उचित नहीं हैं।

आजादी के यज्ञ में आहूति में देने वालों को पूरा सम्मान मिलना चाहिए-

सांसद केपी यादव ने कहा कि देश की आजादी के यज्ञ में जिन लोगों ने अपनी आहूति दी है। उन सभी की पहचान होनी चाहिए। और उन्हें पूरा सम्मान मिलना चाहिए। इतिहास में कई लोगों स्थान नहीं मिल पाया। कई लोगों को हम भूल गए हैं। आाजागी की जंग में अपना सर्वस्य न्यौछावर करने वालों की पहचान कर उन्हें पूरा सम्मान दिया जाना चाहिए है।

शहर का नाम बदलने के कांग्रेस के बयान पर केवल हंसा जा सकता है-

शहर का नाम वीरांगना के नाम पर करने पर सांसद केपी सिंह ने बलिदान मेला में अच्छा बताया था। इसी बयान पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कांग्रेस की इस मांग को खारिज करते हुए कहा कि कांग्रेस के इस बयान पर केवल हंसा जा सकता है। जैसा उसका नेता वैसी कांग्रेस हो गई है। केंद्रीय मंत्री के बयान के बाद केपी यादव भी अपने बयान से पलटते नजर आए।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags