Loot in Gwalior: ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के सबसे पाश इलाके सिटी सेंटर में एसएसपी आफिस से महज 300 मीटर दूर रिटायर्ड सीजीएम की पत्नी को दिनदहाड़े लूटने वाले लुटेरों को पुलिस ने 48 घंटे के भीतर दबोच लिया। पकड़े गए लुटेरों में से एक नाबालिग है, दोनों करीब दो घंटे से पटेल नगर, कैलाश विहार और अनुपम नगर में घूम रहे थे। घर से लूट के उद्देश्य से ही निकले थे और शिकार ढूंढ रहे थे, जैसे ही रिटायर्ड सीजीएम के हाथ में पासबुक और उनके बगल में चल रही पत्नी के हाथ में बैग देखा तो समझ गए बैग में पैसा ही होगा। इसके बाद पहले सामने से गुजरे, फिर लौटकर आए और बैग पर झपट्टा मारकर लूट ले गए।

सिटी सेंटर के पटेल नगर स्थित ग्रीन गार्डन हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले बिजली कंपनी के रिटायर्ड सीजीएम कप्तान सिंह सोलंकी अपनी पत्नी शीला सिंह के साथ मंगलवार दोपहर करीब 3.20 बजे बैंक में रुपए और गहने जमा करने के लिए जा रहे थे। वह बैंगलोर जा रहे थे, इससे पहले घर में रखे गहने व रुपए बैंक में सुरक्षा की दृष्टि से जमा करने के लिए जा रहे थे। जैसे ही पटेल नगर रोड स्थित गुरुनानक ड्रायफूट के सामने पहुंचे तो स्पलेंडर बाइक सवार दो बदमाश झपट्टा मारकर गहने और रुपयों से भरा बैग लूट ले गए। एसएसपी अमित सांघी ने बताया कि लूट होने के बाद एएसपी राजेश दंडोतिया, सीएसपी रत्नेश तोमर के नेतृत्व में यूनिवर्सिटी थाना और क्राइम ब्रांच की टीमों को पड़ताल में लगाया था। लुटेरों के भागने का रूट खंगाला और बाइक के नंबर प्लेट की पड़ताल की तो ऐसी चार बाइक संदेह के घेरे में आई। देर रात बाइक के नंबर से एक संदेही चिन्हित हो गया। दोनों पिंटो पार्क के ही रहने वाले थे। इसके बाद सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया और गोला का मंदिर थाना प्रभारी धर्मेंद्र यादव को भी घेराबंदी के निर्देश दिए। गुरुवार दोपहर में पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया। पकड़े गए एक आरोपित का नाम टिंकू प्रजापति है, जबकि दूसरा नाबालिग है। टिंकू की उम्र 18 वर्ष है। जब इनसे पूछताछ की तो बोले- करीब दो घंटे से इस इलाके में घूम रहे थे। यहां लूट करने की फिराक में ही घूम रहे थे। जब बुजुर्ग के हाथ में पासबुक देखी तो समझ गए कि बैग में रुपए ही होंगे। इसके बाद झपट्टा मारकर लूट ले गए।

लूट करने के बाद होटल होरिजोन में रुके, शराब पार्टी भी की: सीएसपी यूनिवर्सिटी रत्नेश सिंह तोमर ने बताया कि लुटेरे लूट करने के बाद पहले एक मैदान में पहुंचे। यहां बैग जला दिया। फिर होटल होरिजोन प्लाजा पहुंचे, यहां कमरा लिया। रातभर यहीं रुके। शराब पार्टी भी की। जिसमें रुपए खर्च हो गए।

अय्याशी के लिए करने लगे लूट, तीन माह पहले युवती का पर्स लूटा था: इन लुटेरों से पूछताछ में सामने आया कि अय्याशी के लिए लूट करते थे, तीन माह पहले एक युवती का पर्स लूटा था। लेकिन युवती ने रिपोर्ट नहीं की थी। कपड़े खरीदना, महंगे मोबाइल और शराब पार्टी करने का शौक था, इसलिए लूट कर ली।

एफआइआर में सिक्के और सोने का टुकड़ा नहीं लिखाया, यह माल हुआ बरामद: रिटायर्ड सीजीएम ने एफआइआर में चांदी के सिक्कों, सोने के टुकड़े का जिक्र नहीं किया था। पुलिस ने इनसे लूटे गए रुपयों में से 1 लाख 74 हजार 500 रुपए बरामद किए, जबकि एक सोने का टुकड़ा, चांदी की चेन, लाकेट, टाप्स, बाला, 17 चांदी के सिक्के, मोबाइल बरामद कर लिए हैं। रिटायर्ड सीजीएम ने सवा दो लाख रुपए लुटने की जानकारी दी थी, जबकि लुटेरों ने बताया बैग में दो लाख रुपए थे।

इतने ज्यादा रुपए देखकर चौंक गए, बाहर भागने की फिराक में थे: आरोपित बोले, उन्हें नहीं पता था कि इतनी ज्यादा रकम होगी। वह सोच रहे थे 10-20 हजार रुपए होंगे, लेकिन जब इतने रुपए और गहने मिले तो वह चौंक गए। सोने के गहने बेचने की फिराक में थे, फिर शहर से बाहर भागना चाहते थे, लेकिन इससे पहले ही पकड़े गए।

दोनों के पिता का हो चुका है निधन: दोनों आरोपित दसवीं में पढ़ते हैं, एक आरोपित दसवीं में फेल हो चुका है। दिनभर घूमना, अय्याशी करना इनका काम है। दोनों के पिता का निधन हो चुका है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close