Mark sheet in JU on one click: विक्रम सिंह तोमर. ग्वालियर। जीवाजी विश्वविद्यालय में अब छात्रों को मार्कशीट से संबंधित शिकायतों का समाधान पाने के लिए भटकना नहीं पड़ेगा । जीवाजी विश्वविद्यालय में समस्या निवारण प्रणाली को सहज बनाने के लिए राजीव गांधी प्रोद्योगिकी विश्वविद्यालय(आरजीपीवी) भोपाल की तर्ज पर काम किया जाएगा । इसमें छात्र अपनी अंकसूची से संबंधित शिकायत को आनलाइन ही दर्ज करवा सकेगा और कम समय में समस्या का निराकरण भी हो सकेगा । जेयू के कार्यपरिषद सदस्य डा. विवेक भदौरिया ने नईदुनिया से बातचीत के दौरान इस बारे में जानकारी साझा करते हुए बताया कि जेयू में आरजीपीवी जैसी प्रणाली अपनाने के लिए प्रस्ताव कार्यपरिषद की बैठक में रखा जा चुका है । साथ ही विवि प्रबंधन ने आरजीपीवी के कुलपति से बात कर उनसे इसके लिए उपयोगी सोफ्टवेयर की मांग की है । आरजीपीवी के कुलपति ने उक्त सोफ्टवेयर को जल्द ही जेयू को उपलब्ध करवाने की बता कही है। डा. भदौरिया ने बताया कि जेयू में बाहरी जिलों और राज्यों से आने वाले छात्रों के लिए अंकसूची संबंधित समस्याओं का निकारण करवाने में बड़ी समस्या होती है । छोटे के काम के लिए कई चक्कर लगाने पड़ जाते हैं । इसमें सबसे अधिक मामले अंकसूची में सुधार और अंकसूची की कापी निकलवाने को लेकर आते हैं , इस सुविधा के लागू होने के बाद विद्यार्थी घर बैठे-बैठे विवि को अपनी समस्या से अवगत करवा सकेगा , शिकायत करने के लिए ग्वालियर आने की जरूरत नहीं होगी । गौरतलब है कि आगामी कुछ महीनों में ही जेयू में यह सुविधा शुरू हो सकती है ।

प्राथमिक स्तर पर एसओएस पर होगा लागू

जानकारी के अनुसार आरजीपीवी से सोफ्टवेयर मिलने के बाद इसे सबसे पहले प्राथमिक स्तर पर जेयू की अध्ययन शाला में पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए लागू किया जाएगा । यानि सिर्फ एसओएस के विद्यार्थी इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे । प्राथमिक रूप से सफल होते ही बिना देरी किए यह सुविधा जेयू से संबद्घ कालेजों के विद्यार्थियों के लिए भी लागू कर दी जाएगी । माना जा रहा है कि इससे विद्यार्थियों को काफी हद तक फायदा मिलेगा ।

छात्रों का बनेगा अलग एकाउंट

डा. विवेक ने बताया कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए विद्यार्थियों को जेयू एक एकाउंट उपलब्ध करवाएगा जिससे विद्यार्थी जेयू की वेबसाइट पर जाकर आइडी पासवर्ड से लाग इन कर शिकायत दर्ज करवा सकेगा । इसके अलावा छात्र की अंकसूची भी सोफ्टकापी में इस एकाउंट पर उपलब्ध रहेगी।

त्रुटि सुधार : छात्रों के शिकवे सुनने में जेयू फेल, सीएम हेल्पलाइन पर हर रोज 500 शिकायतें दर्ज, शीर्षक से चार दिसंबर को प्रकाशित खबर में त्रुटिवश शिकायतों की संख्या हर रोज 500 प्रकाशित हो गई थी। यह संख्या हर माह 500 है। पाठकों की असुविधा के लिए हमें खेद है।

न राजीव गांधी प्रोद्योगिकी वि भोपाल की तर्ज पर होगा शिकायत निवारण

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close