National Voters Day 2023: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। इस साल नए मतदाताओं का प्रतिशत एक प्रतिशत से पार हो गया है। कुल मतदाता प्रतिशत में यह हिस्सा है। पिछली साल दस हजार से भी कम नए मतदाता जुड़े थे लेकिन इस साल 25 हजार से ज्यादा नए मतदाता जुडे हैं जिनकी उम्र 18 से 19 साल है। इसके पीछे कारण एक यह भी कि इस बार हुए मतदाता पुनरीक्षण सूची में बीएलओ स्तर की कड़ी को मजबूत किया गया जिसका नतीजा यह रहा कि नए मतदाताआें तक पहुंचने में सरकारी सिस्टम कामयाब रहा। वहीं इपी रेशो यानी कुल जनसंख्या में मतदाता संख्या भी गाइडलाइन में आई है। एक हजार लोगों की संख्या में 620 मतदाता होने चाहिए जोकि ग्वालियर में अब इसी गाइडलाइन में मतदाता शामिल हो चुके हैं, ग्वालियर का इपी रेशो अब 61.25 प्रतिशत हो गया है। जिले में 15 लाख 77 हजार 673 मतदाता हैं। यहां यह बता दें कि मतदाता सूची का पुनरीक्षण का कार्य पिछले ही साल पूरा हुआ है और नौ नवंबर 2022 को प्रारूप प्रकाशन भी किया जा चुका है अब जो मतदाता सूची तैयार है उसी के आधार पर इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव होंगें। ग्वालियर जिले में छह विधानसभा हैं जिनमें सबसे बड़ी विधानसभा ग्वालियर पूर्व है। मतदाता सूची में इस बार युवा मतदाताओं को जोड़ने पर भी फोकस रखा गया।

इस साल बढ़े 33036 मतदाता

इस साल नए कुल मतदाता बढ़े 33036 इस साल नए मतदाता कुल हटाए गए नामों को घटाकर 33036 हैं। पुनरीक्षण के दौरान कुल 58998 नए मतदाताओं के नाम जोड़े गए और निरसन की संख्या 25962 रही। संशोधन कुल 18104 किया गया।

सबसे जयादा मतदाता जुड़े डबरा में

सबसे ज्यादा डबरा में जुड़े नए मतदाता पिछली साल जब पुनरीक्षण हुआ था तो अठारह से उन्नीस साल के मतदाता आठ हजार के लगभग ही जुड सके थे। इस साल पुनरीक्षण में 25 हजार से ज्यादा मतदाता जोड़ दिए गए हैं। सबसे ज्यादा ग्वालियर में जिले में डबरा विधानसभा से नए मतदाता जुडे हैं। इनकी संख्या 5188 है। इस बार कालेज से लेकर शैक्षणिक संस्थानों में ज्यादा प्रचार हुआ। वहीं इस बार जिला कलेक्टर व सीइओ ने बीएलओ से खुद चर्चा की थी और लक्ष्य दिया था।

यह है मतदाताओं की स्थिति

विधानसभा महिला पुरूष

ग्रामीण 110685 131531

ग्वालियर 136182 154815

पूर्व 152407 173778

दक्षिण 118465 130263

भितरवार 108314 125463

डबरा 110653 125053

इस बार नए मतदाताओं को जोड़ा गया है जिनमें 18 से 19 साल के मतदाताओं की संख्या 25 हजार से ज्यादा हुई है। पिछले पुनरीक्षण में यह आठ हजार के करीब थी। इस बार पुनरीक्षण में मैदानी स्तर पर बेहतर काम हुआ है।

जेपी गुप्ता, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, ग्वालियर

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close