बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। बुधवार से नौ तपा शुरू हो गए हैं, लेकिन पहले दिन इनके तपने की उम्मीद न के बराबर रह गई है। क्योंकि हवा में नमी होने की वजह से तापमान अधिक नहीं बढ़ सकेगा, बीते दिनों आई आंधी व बारिश ने अंचल के मौसम को ठंडा कर दिया है। अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ही नीचे रहेगा। न्यूनतम तापमान 25.4 डिसे रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 1.9 डिसे कम रहा। इससे मौसम में ठंडक रही। मौसम में यह बदलाव नौ तपा के के पहले आई आंधी व बारिश की वजह से है। हवा में नमी आ चुकी है। राजस्थान की गर्म हवा भी हावी नहीं हो सकेगी। 25 मई से 2 जून के बीच अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक नहीं पहुंचेगा। पिछले सात साल में तीसरी बार ऐसा होने वाला है। 2016 व 2021 में नौ तपा नहीं तपे थे। बारिश के छीटों से नौ तपा ठंडे हाे गए हैं।

राजस्थान में बने कम दबाव के क्षेत्र की वजह से शहर का मौसम बदल गया था। दो दिन पहले आंधी व बारिश से तापमान नीचे आ गया। इसका असर गत दिवस भी देखने को मिला। सुबह हल्के बादल छाए। ठंडी हवा का प्रभाव रहा। अधिकतम तापमान 37.2 डिसे दर्ज हुआ। न्यूनतम तापमान में साढ़े छह डिग्री की गिरावट आने से 21.5 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। यह सामान्य से 5.8 डिसे कम रहा। दिन व रात का तापमान सामान्य से नीचे रहा है। इस कारण मौसम में ठंडक रही। इससे शहर राहत महसूस कर रहा है। एसी व कूलर की जरूरत नहीं पड़ रही है। इस ठंड का असर नौ तपा पर रहेगा।

नौ तपा के दौरान लू से रहेगी राहतः

-वैसे नौ तपा भीषण गर्मी के लिए जाने जाते हैं। इस दौरान तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज होता है। नौ तपा के दौरान गर्मी अपना रौद्र रूप दिखाने के बाद विदाई की ओर जाती है, लेकिन इस बार नौ तपा के पहले शहर तप चुका है। पश्चिमी विक्षोभ मौसम को प्रभावित करेंगे। इस कारण नौ तपा में लू वाली गर्मी की वापसी नहीं होगी।

-2021 में मई बिना लू के विदा हुई थी। ऐसा पहली बाहर हुआ था। मई लू व भीषण गर्मी के लिए जाना जाएगा।

वर्जन-

अरब सागर से राजस्थान तक ट्रफ लाइन बनी है। इस वजह से अरब सागर से नमी आ रही है। इससे हवा में नमी रहेगी। नया पश्चिमी विक्षोभ 27 मई को आ रहा है। इस हफ्ते अधिकतम तापमान नहीं बढ़ सकेगा। इससे तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही दर्ज होगा। ग्वालियर-चंबल संभाग को गर्मी से राहत रहेगी।

डा वेदप्रकाश सिंह, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक व रेडार प्रभारी मौसम केंद्र भोपाल

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close