अजय उपाध्याय, ग्वालियर नईदुनिया। शहर में डेंगू लार्वा सर्वे के नाम पर दिखावा चल रहा है। कागजों में लार्वा सर्वे कर इतश्री की जा रही है। जिसको लेकर सीएमएचओ ने तीन कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस भी थमाया है। नोटिस मलेरिया निरीक्षक नरेन्द्र बाथम,फील्ड वर्कर प्रियादर्शी शर्मा, और विजय गुप्ता को दिया गया है। इन कर्मचारियों की ड्यूटी जनकगंज क्षेत्र में लार्वा सर्वे के लिए लगाई गई थी।

जनकगंज क्षेत्र के वार्ड नंबर 56 में दीक्षांत प्रजापति को डेंगू हुआ था। दीक्षांत के निवास स्थान व उसके आसपास के क्षेत्र में लार्वा सर्वे किया जाना था, जो नहीं हुआ और वहां पर लार्वा पाया गया। जिसको लेकर नोटिस देते हुए तीन दिन में जवाब मांगा गया है। वहीं दो कर्मचारियों को अतिरिक्त चार्ज दिया गया है, जहां वह लार्वा सर्वे का काम देखेंगे। गौरतलब है कि मच्छरजनित बीमारियों का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को जीआर मेडिकल कालेज से जारी हुई जांच रिपाेर्ट में एक चिकनगुनिया का मरीज पाया गया है। जबकि 49 डेंगू के मरीज मिले हैं। जिसमें 43 ग्वालियर के रहने वाले है। इसमें 28 बच्चे डेंगू का शिकार बने हैं। जिले में चिकनगुनिया के मरीजों का आंकड़ा 9 तक पहुंच गया है, जबकि डेंगू मरीजों का आंकड़ा 2486 हो चुका है। खास बात यह है कि कोर्ट की फटकार और मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद भी डेंगू की रोकथाम के उपाय स्वास्थ्य विभाग नहीं कर पा रहा है। आलम यह है कि डेंगू पर प्रहार अभियान भी ठप पड़ा हुआ है और सर्वे और फोगिंग का काम के नाम पर दिखावा हो रहा है। डेंगू के गुरुवार को 49 मरीजों में से 43 मरीज ग्वालियर के पाए गए। इन मरीज में 28 बच्चे डेंगू की चपेट में आए हैं। यह मरीज डबरा, गोला का मंदिर, डीडी नगर, प्रीतम विहार कॉलोनी, घासमंडी ,प्रसाद नगर, नारायण विहार कॉलोनी, चंबल कॉलोनी, बंशीपुरा, घोसीपुरा, शिव कॉलोनी, पुरुषोत्तम विहार, इंद्रा नगर, श्रीकृष्णा कॉलोनी, आर्दश नगर, वैष्णोपुरम,चार शहर का नाका, सिकंदरकंपू, नई सड़क, लश्कर , ग्वालियर, बहोड़ापुर आदि स्थानों पर निकले। इसके अलावा अन्य जिलों के मरीज पाए गए। इसके अलावा अब तक 9 मरीज चिकनगुनिया के निकल चुके हैं। डेंगू का आंकड़ा 2486 हो चुका है, जो पिछले छह साल में अब तक का सर्वाधिक है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local