News Hospital in Gwalior: ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। जयारोग्य अस्पताल से सामान शिफ्ट किया जा रहा है। जो सामान पुराना धुराना है उसकी साफ सफाई व रंगाई पुताई का काम किया जा रहा है। जिससे पुराने सामान का बेहतर उपयोग किया जा सके। ओपीडी का पूरा सामान शिफ्ट होने में अभी करीब एक सप्ताह का वक्त लगेगा। अगले सप्ताह से ही ओपीडी का पूरा सामान भेजा जाएगा और पूरी तरह से ओपीडी हजार बिस्तर में संचालित करने से पहले एक बार ट्रायल लिया जाएगा।

हजार बिस्तर अस्पताल में शिफ्टिंग में देरी होने का कारण दोंनो अस्पताल के बीच की दूरी होने का कारण बताया जा रहा है। असल में जयारोग्य अस्पताल से सामान हजार बिस्तर पहुंचाने के लिए परिसर से बाहर होकर जाना पड़ता है। इन दोंनो अस्पताल के बीच की दूरी महज दस कदम की है लेकिन वाहन से आने जाने के लिए 800 मीटर का सफर तय करना पड़ रहा है।

मेडिकल कालेज के डीन डा अक्षय निगम का कहना है कि प्रशासन ने माधव डिस्पेंसरी के सामने वाली सड़क को चौड़ी करने के लिए जेएएच की जगह ले ली है। यदि राहगीरों की परेशानी को ध्यान रखते हुए सड़क चौड़ीकरण करना जरुरी है तो फिर मरीजों की परेशानी को ध्यान में रखना भी जरुरी है। इसलिए हजार बिस्तर और जेएएच के बीच से गुजरने वाली सड़क केा बंद कर परिसर एक किया जाए। जिसमें सभी जनप्रतिनिधियों को मरीजों के हित में परिसर एक कराने की दिशा में कदम उठाना चाहिए। हजार बिस्तर अस्पताल में सर्जरी विभाग को शिफ्ट कर दिया गया है।

रविवार को सर्जरी विभाग का आपरेशन थिएटर भी शिफ्ट कर दिया गया। जिसका सात दिन हजार बिस्तर में ट्रायल चलेगा,यदि सब कुछ ठीक रहा तो सात दिन बाद हजार बिस्तर अस्पताल में ओपरेशन शुरू कर दिए जाएंगे और 15 दिसंबर तक ओपीडी व आइपीडी का काम भी शुरू कर दिया जाएगा। इन सात दिन सर्जरी विभाग की ओटी सुपर स्पेशियलिटी में संचालित होगी। सर्जरी के सभी ओपरेशन सुपर स्पेशियलिटी में किए जाएंगे। अभी तक यहां पर केवल आर्थोपेडिक विभाग की ओटी ही संचालित की जा रही थी लेकिन सोमवार से सर्जरी विभाग की ओटी भी संचालित होगी। इसी के साथ हजार बिस्तर में ओपीडी संचालन के लिए साफ सफाई का काम तेज कर दिया है।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close