ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गजराराजा मेडिकल कॉलेज के डीन के पद के लिए अभी तक कमिश्नर कार्यालय में एक ही आवेदन पहुंचा है। जबकि जेएएच अधीक्षक अशोक मिश्रा ने आवेदन करने से ेपहले एनओसी की मांग की है। जबकि आवेदन करने की अंतिम तिथि 9 दिसंबर है जिसमें महज चार दिन शेष बचे हैं। इन चार दिनों में तीन आवेदन नहीं पहुंचे तो इस बार भी डेट बढ़ा दी जाएगी। डीन की नियुक्ति में विलंब होने से मेडिकल कॉलेज के आवश्यक निर्णय नहीं लिए जा पा रहे हैं। हालांकि रुटीन वर्क तो हो रहा है लेकिन गंभीर निर्णय नहीं लिए जा रहे हैं। यही कारण है कि पिछले दो माह से प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर एवं एसोसिएट प्रोफेसरों के इंटरव्यू नहीं हो सके हैं। इसके साथ ही प्रमोशन व टाइम स्केल संबंधी कार्य भी नहीं किए जा रहे हैं। ऐसे में यदि एमसीआई की टीम को निरीक्षण के दौरान जीआरएमसी में खामियां मिलती हैं तो एबीबीएस की सीटों पर भी संकट मंडरा सकता है। हालांकि अभी चार दिन शेष हैं और इस बीच आवेदन आने की संभावना भी है।

250 सीटों की अनुमति देगी एमसीआई

जीआरएमसी में अभी एमबीबीएस की 180 सीटें उपलब्ध हैं। इन्हें बढ़ाकर 250 की जानी हैं इसके लिए सभी प्रकार की तैयारी की जा चुकी हैं बस इंतजार है तो एमसीआई (मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया) की टीम के आने का। जो जीआरएमसी का निरीक्षण कर फैकल्टी और इन्फ्रास्ट्रेक्चर, मरीजों की संख्या, संसाधन आदि का निरीक्षण करेगी। जिसके आधार पर सीट बढ़ाने की अनुमति देगी।

एक आवेदन मिला, अधीक्षक ने एनओसी चाही

डीन के पद के लिए रतलाम में माइक्रोबायोलॉजी की प्रोफेसर डॉ. शशि गांधी का आवेदन मिला है। जेएएच अधीक्षक डॉ. अशोक मिश्रा ने आवेदन से पहले शासन से एनओसी मांगी है। इसके अलावा अभी कोई भी आवेदन कमिश्नर कार्यालय को प्राप्त नहीं हुआ है। शेष चार दिन में आवेदन आने की संभावना है यदि तीन आवेदन से कम रहे तो डेट बढ़ा दी जाएगी।

तीन आवेदन नहीं मिले तो बढ़ेगी डेट

जिन नियुक्तियों की आवश्यकता थी वह पूरी की गईं, अब आगे की नियुक्तियां डीन की नियुक्ति होने के बाद ही होंगी। डीन की नियुक्ति के लिए तीन आवेदन आना जरूरी हैं यदि इससे कम रह जाते हैं तो डेट आगे बढ़ाई जाएगी।

एमबी ओझा, कमिश्नर

Posted By: Nai Dunia News Network