फोटो

ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गंदगी व भवन निर्माण सामग्री सड़कों पर फेंकने पर नगर निगम प्रशासन आम जनता पर तो जुर्माना लगा रहा है, लेकिन ठेकेदारों पर मेहरबान बना हुआ है। अमृत योजना के तहत सीवर और पानी की लाइनें डालने सड़कें खोदी जा रही हैं। खुदाई से निकली मिट्टी-गिट्टी को शहर से बाहर ले जाने के आदेश हैं। लेकिन ठेकेदार उन्हें शहर में ही इधर-उधर डालकर गंदगी कर रहे हैं। उरवाई गेट पर बने हॉकर्स जोन पर अमृत योजना के ठेकेदारों ने करीब 30 ट्रॉली मलबा फेंका। उसे अब निगम अपने खर्चे पर हटवा रहा है। मामला पकड़ में आने के बाद भी निगम अधिकारियों ने ठेकेदारों को राहत दे दी है।

लोगों पर ठोक रहे जुर्माना

गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ निगम का अमला अब जुर्माने करने निकल रहा है। गंदगी फैलाने पर बुधवार को वार्ड 52 में गुढ़ा गुढ़ी का नाका स्थित देशी शराब की दुकान पर गंदगी तीन हजार रुपए का जुर्माना लगाया। निगम अधिकारियों ने क्षेत्र क्रमांक 19 के रायसिंह का बाग में कौशल किशोर एवं दिलशाद खां के घर मच्छर का लार्वा पाए जाने पर 100-100 रूपए जुर्माना। इसी क्षेत्र के निवासी रूप सिंह तथा दीनदयाल नगर में यूएस दौहरे के यहां लार्वा पाए जाने पर 500-500 रुपए का जुर्माना किया गया। गुढ़ा कलारी के खुले में शौच करने पर एक महिला, वार्ड 1 के पारसेन में वीरू, पूरनलाल, भूरे बाबा की बस्ती नहर किनारे राम कुमार पर 100-100 रुपए जुर्माना लगाया। पांच लोगों पर खुले में पेशाव करने पर जुर्माने की कार्रवाई की गई।

कचरा ठिए खत्म कर करा रहे पेंटिंग

निगम ने कचरा ठिये खत्म कर वहां सेल्फी पॉइंट व पेंटिंग कराने का काम तेज कर दिया है। कहीं पुराने टायर तो कहीं थर्माकोल का उपयोग कर सौंदर्यीकरण किया जा रहा है। जिला प्रशासन के अधिकारी भी स्वच्छता सर्वेक्षण कार्य की निगरानी कर रहे हैं। गुरुवार को अधिकारी निम्बाजी खो में निरीक्षण को पहुंचेंगे। बुधवार को कलेक्टर अनुराग चौधरी ने टाइम लिमिट की बैठक में निगम अधिकारियों की जमकर खिंचाई की।

इनका कहना है

उरवाई गेट स्थित हॉकर्स जोन पर काफी बड़ी तादात में सड़कों की खुदाई से निकली मिट्टी डाल दी है। उसे हटवा रहे हैं। जेडओ ने अमृत योजना की एक ट्रॉली को मौके पर पकड़ा था। इस मामले में हम कार्रवाई कर रहे हैं।

प्रदीप वर्मा, मॉनीटर वार्ड 3

Posted By: Nai Dunia News Network