ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना पॉजीटिव मरीज को जयारोग्य अस्पताल के स्वाइन फ्लू वार्ड में आइसोलेट करके रखा गया है। कलेक्टर ने मरीज को सुपर स्पेशिलिटी में शिफ्ट करने के आदेश दिए थे, मगर 36 घंटे बाद भी शिफ्िटग नहीं हो सकी है। उधर मरीज को यहां प्रतिदिन परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बीती रात को जब गर्म पानी का इंतजाम नहीं हुआ तो पत्नी को कार से पानी लाने के लिए भेजना पड़ा। जिसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर ट्रोल किए जाने से पीड़ित काफी आहत है। हालांकि भोजन की क्वालिटी में जरूर सुधार हुआ है।

जयारोग्य अस्पताल प्रबंधन सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल में सभी सुविधाएं जुटाने का दावा कर रहा है। कोरोना पॉजीटिव मरीज को इस इमारत में गुरूवार को शिफ्ट करने का आश्वासन दिया गया था। मगर देर रात तक मरीज स्वाइन फ्लू वार्ड में ही भर्ती था। नईदुनिया प्रतिनिधि ने जब मरीज से बात की तो उसने बताया कि खाने की समस्या काफी हद तक हल हो गई है। वार्ड एवं टॉयलेट की गंदगी अब तक साफ नहीं कराई गई है। इससे जरूर परेशानी हो रही है। हमें भी सुपर स्पेशिलिटी में शिफ्ट करने के लिए कहा गया था, लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ है। हमारी इस मामले में लगातार कलेक्टर से बातचीत चल रही है।

पानी तक नहीं मिलाः-कोरोना पॉजीटिव मरीज की पत्नी को भी स्वाइन फ्लू वार्ड में ही आइसोलेशन में रखा गया है। बीती रात को पत्नी का बाहर घूमते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जिसमें महिला कहीं बाहर से आती दिखाई दे रही है, हालांकि मुंह पर मास्क लगा हुआ है। इस मामले में कोरोना पॉजीटिव मरीज ने बताया कि वार्ड में पानी का इंतजाम नहीं था। गर्म पानी की जरूरत थी। जब कोई व्यवस्था नहीं हुई तो पत्नी कार से पानी लेने के लिए बाहर तक गई थी, इसी बीच वह वीडियो बनाया गया है।

वर्जनः-

सुपर स्पेशिलिटी पूरी तरह तैयार है। प्रशासन का निर्देश मिलते ही मरीज को यहां शिफ्ट कर दिया जाएगा। हमारी तरफ से कोई दिक्कत नहीं है।

डॉ गिरीजा शंकर, अधीक्षक सुपर स्पेशिलिटी अस्पताल

Posted By: Nai Dunia News Network