- लॉकडाउन में सबसे ज्यादा ठगी फेसबुक मैसेंजर पर झूठी सूचना देकर

-ऑन लाइन खरीद फरोख्त पर भी ठगों ने जमकर ठगा

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना को रोकने जहां पूरे देश में लॉकडाउन था। व्यापार-उद्योग पूरी तरह बंद थे और आर्थिक संकट का दौर चल रहा था वहां ठगों ने जमकर चांदी लूटी। लॉकडाउन के 61 दिन में 155 लोगों को निशाना बनाकर लगभग 33 लाख रुपये अभी तक ठग चुके हैं। औसतन आंकड़ा लगाया जाए तो एक व्यक्ति से 20 से 25 हजार रुपये ठगा गया है। यह ऐसे समय में ठगा गया है जब टोटल लॉकडाउन के चलते लोग अपने-अपने घरों में थे। हालांकि सामान्य दिनों की तुलना में यह फिर भी कम है, लेकिन ठगों ने लॉकडाउन का जमकर फायदा उठाया। इनमें सबसे ज्यादा ठगी के मामले फेसबुक मैसेंजर पर एक्सीडेंट, बीमार या किसी मुसीबत में फंसे होने पर रिश्तेदारों व अन्य से छोटी-छोटी राशि पेटीएम व अन्य तरह से ली गई है।

हर दिन 2 से 3 लोगों को ठगा

सायबर थाना, सायबर सेल, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, क्राइम ब्रांच पर बीते 61 दिन में आई शिकायतों के आधार पर हर दिन 2 से 3 लोगों को ठगों ने ऑनलाइन ठगी का शिकार बनाया है। कुल 155 मामले सामने आए हैं। इनमें से 65 के लगभग मामले ऐसे हैं जिनमें ठगों ने लॉकडाउन के वह दिन जब घर से निकलना पूरी तरह बंद था फेसबुक मैसेंजर हैक कर लोगों को टारगेट कर ठगा।

ऑनलाइन खरीद पर व्यापारी शिकार

हाल ही में लॉकडाउन में ढील के साथ-साथ व्यापारियों ने व्यापार को जमाने ऑनलाइन माल भरने के बारे में सोचा। इस दौरान इंटरनेट पर दिल्ली की ऑनलाइन मार्केट से माल मंगाया। यहीं चूक हुई और वह ठगी के शिकार हुए। ऐसे मामले हाल में लॉकडाउन में ढील के साथ बढ़े हैं।

झारखंड के जामताड़ा में है ठगों का रैकेट

देश के झारखंड राज्य के जामताड़ा शहर को ऑनलाइन ठगी करने वालों का गढ़ माना जाता है। हाल ही में जामताड़ा ऑनलाइन ठगी के मामलों को लेकर पूरे देश में सुर्खियों में आया है। यहां के आर्थिक रूप से कमजोर लोग अब लग्जरी वाहनों में घूमते नजर आ रहे हैं। करीब 40 से अधिक शहरों की पुलिस वहां डेरा डाल चुकी है। हाल ही में कुछ वेब सीरीज भी जामताड़ा पर बनी है।

लॉकडाउन में चर्चित ठगी के मामले

- भाजपा नेता अशोक सिंह का वाट्सएप नंबर हैक कर उनसे जुड़े लोगों को संकट में होने की बात कहकर करीब 50 हजार रुपये ठगे।

-भाजपा नेता व पूर्व पार्षद धर्मेंद्र का भी वाट्सएप नंबर हैक कर उनके दोस्तों, रिश्तेदारों को संकट में होने का मैसेज कर करीब 15 हजार ठगे।

- पुणे महाराष्ट्र के इंजीनियर को ओएलएक्स पर स्पोर्ट्स बाइक बेचने के नाम पर 31 हजार ठगे।

- दिल्ली से होजरी सामान मंगाने सदर बाजार मुरार के व्यापारी से 27 हजार रुपये ठगे।

सावधानी से टाली जा सकती है घटना

यदि आप सावधान रहें तो ऑनलाइन ठगी की घटनाओं को आसानी से टाला जा सकता है। पिछले दिनों कुछ घटनाएं इस तरह की हुई हैं जिसमें लोगों ने बचने का प्रयास किया, लेकिन ठगों ने अपनी चालाकी से उन्हें अपना शिकार बना ही लिया। यह रखें सावधानी।

- कोई भी लिंक भेजे तो उस पर क्लिक न करें

- न ही किसी के नंबर पर लिंक फॉरवर्ड करें

- एटीएम व वैरीफिकेशन के नाम पर डिटेल मांगे तो न दें

-आपके मोबाइल पर आए कोई भी ओटीपी शेयर न करें

- फेसबुक मैसेंजर पर कोई मैसेज कर मदद मांगे तो सीधे मदद न करें

- पहले मदद मांगने वाले को कॉल जरूर करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना