ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उपचुनाव में तय है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ आए पूर्व मंत्री व विधायकों को टिकिट देना भाजपा की मजबूरी है। लेकिन इन सीटों पर लंबे समय से अपना जनाधार बनाने के लिए संघर्ष कर रहे भाजपा के पूर्व मंत्री-विधायक अब 2023 के चुनाव में अपनी दावेदारी को लेकर आशंकित होने लगे हैं। इन आशंकाओं का असर उपचुनाव पर नहीं पड़े, इसके लिए भाजपा ने डैमेज कंट्रोल शुरू कर दिया है।

प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को संगठन ने इन्ही आशंकाओं को दूर करने का दायित्व सौंपा है। मिश्रा रविवार को भोपाल के लिए रवाना होने से पूर्व कुछ समय शहर में रुकेंगे। 2 घंटे की अवधि में वे सबसे पहले पूर्व मंत्री अनूप मिश्रा, नारायण सिंह कुशवाह, माया सिंह व जयभान सिंह पवैया से मुलाकात करने के लिए जाएंगे। हालांकि पार्टी होने वाली इस चर्चा को सामान्य मुलाकात ही बता रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना